'तुझको मिर्ची लगी तो मैं क्या करूं?', CM ठाकरे को फडणवीस का जवाब

मुंबई: बीते शनिवार को सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने अपनी मुंबई की बीकेसी रैली (Mumbai Rally) में बीजेपी और विधानसभा में विपक्षी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis BJP) पर जमकर हमला बोला था। जी हाँ और उन हमलों का जवाब देने के लिए अब फडणवीस की मुंबई के गोरेगांव के नेस्को सेंटर में ‘उत्तर’ सभा हुई। जी हाँ और यह सभा हिंदी भाषी और उत्तर भारतीयों के साथ बीजेपी के संवाद के तौर पर आयोजित की गई थी। हालाँकि इसे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की रैली के उत्तर के रूप में प्रचारित किया गया। जैसा प्रचारित किया गया वैसा ही हुआ।

जी दरअसल इस दौरान देवेंद्र फडणवीस ने सीएम उद्धव ठाकरे के वार पर जोरदार पलटवार किया। इस दौरान फडणवीस ने कहा, 'मेरे वजन पर उद्धव जी को कितना विश्वास है। अच्छी बात है। मैं तो अयोध्या जा रहा था, बाबरी गिरा रहा था, मंदिर बना रहा था। तुझको मिर्ची लगी तो मैं क्या करूं?' आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने अपनी शनिवार की रैली में देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी के इस दावे को ठुकरा दिया था कि बाबरी गिराने में बीजेपी और फडणवीस ने भागीदारी निभाई थी। जी दरअसल सीएम ठाकरे ने कहा था कि देवेंद्र फडणवीस ने अगर बाबरी गिराने की कोशिश भी की होती तो उनके वजन से बाबरी गिर जाती। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि जब बाबरी गिराई गई तो बीजेपी नेता दुम दबा कर छुप गए थे। तब बालासाहेब ठाकरे ने कहा था कि उन्हें गर्व है कि शिवसैनिकों ने इस काम को अंजाम दिया है।

ऐसे में इसके जवाब में बीते रविवार को देवेंद्र फडणवीस ने कहा, 'मैंने जो यह कह दिया कि बाबरी जब गिराई जा रही थी तो हम नारे लगा रहे थे कि लाठी-गोली खाएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे, तब आस पास हमें कोई शिवसैनिक नहीं दिखाई दे रहा था। इस बात की उद्धव जी को कितनी मिर्ची लगी। मैं फिर कहता हूं। हां, मैं तो अयोध्या जा रहा था, बाबरी गिरा रहा था, मंदिर बना रहा था। तुझको मिर्ची लगी तो मैं क्या करूं?'

इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा, 'मेरे वजन पर उद्धव जी को कितना विश्वास है। आज मेरा वजन 102 किलो है। जब मैं बाबरी ढहाने गया था तब मेरा वजन 128 किलो था। उद्धव जी आपने मेरी पीठ पर खंजर घोंप कर अगर यह सोचा होगा कि मेरी राजनीति का वजन कम कर दिया है तो इस गलतफहमी में ना रहना। वजनदार आदमी हूं। जितना वजन ऊपर है, उतना ही नीचे रखता हूं। याद रखिएगा कि जब तक मैं इस वजन से मुंबई महानगरपालिका में आपकी भ्रष्टाचार से भरी सत्ता की बाबरी नहीं गिराता, तब तक चैन से नहीं बैठूंगा। कल कौरवों की सभा थी आज पांडवों की सभा हो रही है। हनुमान चालीसा तो शुरू हो चुकी है, अब लंका दहन होगा। मुंबई महानगरपालिका के चुनाव में बीजेपी का कमल खिलेगा।'

केरल में शुरू हुई प्री-मॉनसून बारिश, उत्तर भारत को भी जल्द मिलेगी गर्मी से राहत

पेट्रोल-डीजल के दाम आज भी स्थिर

एकता की मिसाल: ब्लड के लिए भटक रहे थे सविता के घरवाले, मुस्लिम महिला ने खून देकर बचाई जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -