दिल्ली में डेंगू ने बदला रूप ना सिरदर्द ना बुखार, इन लक्षणों का ना करें नज़रअंदाज़

Oct 24 2018 03:52 PM
दिल्ली में डेंगू ने बदला रूप ना सिरदर्द ना बुखार, इन लक्षणों का ना करें नज़रअंदाज़

नई दिल्ली : खतरनाक बीमारी डेंगू कुछ लक्षण ऐसे हैं जिनसे उस बिमारी को पहचाना जा सकता है और उसके इलाज के लिए तुरंत कदम उठा सकते हैं. लेकिन खबरों की मानें तो अब डेंगू ने अपना रूप बदल लिया है जिसके कारण डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. दिल्ली में डेंगू का एक नया रूप देखने को मिला है. खबर आई है कि एम्स से लेकर निजी अस्पतालों में भी डेंगू के मरीज मिल रहे हैं. इनमे बड़ी और चिंता की बात ये है कि उन्हें ना तो सिरदर्द हुआ और न ही बुखार आया, लेकिन कमजोरी और प्लेटलेट्स कम होने के कारण इन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

वायरल फीवर चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बीमारियों से आराम दिलाती हैं यह चीजें

इसके बारे में एम्स के डॉक्टरों का भी यही कहना  है कि उनके यहां भी इस तरह के मरीज आए हैं. इसी पर एक अध्ययन में ये साबित हो चुका है कि डेंगू यानि एडीज मच्छर के वायरस और स्ट्रेन में बदलाव देखने को मिल रहे हैं. डॉक्टर ने बताया ये बदलाव जानलेवा नहीं है लेकिन चिंताजनक हैं. अब तक डेंगू के मरीज को तेज बुखार, सर दर्द बना रहता है जिसके चलते उन्हें पैरासिटामॉल और ग्लूकोज से इलाज किया जा रहा था. लेकिन अब ऐसे मरीज भी आये हैं जिनमें ऐसे लक्षण नहीं है पर वो डेंगू के मरीज हैं. 

जानिए क्या है डेंगू बुखार के लक्षण और बचाव करने के तरीके

सफदरजंग अस्पताल के डॉ. जुगल किशोर का कहना है कि इन दिनों कुछ इसी तरह के मरीज उनके यहां भी देखने को मिल रहे हैं. ऐसे मरीजों में डेंगू की पहचान होना मुश्किल है,लेकिन थकान और कमजोरी के चलते इस पर ध्यान देना जरुरी हो गया है. ऐसी ही मरीज भी आ रहे हैं जिनका ब्लड टेस्ट कराने पर ही इस बीमारी की पुष्टि हो रही है. ऐसे ही मैक्स अस्पताल के डॉ. विवेक कुमार का भी यही कहना है जिस पर ध्यान देना जरुरी है. उन्होंने बताया कि अगर किसी इंसान को बगैर कारण ही  रक्तचाप में गिरावट या कमजोरी महसूस हो रही हो तो वह तुरंत ही अपना ब्लड टेस्ट करा ले और डॉक्टर से परामर्श भी लें.

खबरें और भी...

राफेल मुद्दे पर सवाल उठाने की वजह से हटाए गए है सीबीआई डायरेक्टर : राहुल गाँधी

मानहानि के आरोप में बांग्लादेशी अखबार के संपादक हुए गिरफ्तार