डीज़ल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ रामेश्वरम के मछुआरों का प्रदर्शन, DMK सरकार से की यह मांग

चेन्नई: रामेश्वरम में मछुआरों ने आज शुक्रवार को डीजल की कीमतों में वृद्धि का विरोध किया और डीजल की मासिक सब्सिडी में बढ़ोतरी करने की मांग की. मीडिया से बात करते हुए, रामेश्वरम मछुआरा संघ के सचिव सागयम ने कहा कि उन्होंने डीजल के भाव में वृद्धि के खिलाफ हड़ताल शुरू कर दी है और मांग करते हुए कहा है कि तमिलनाडु सरकार 1,800 लीटर डीजल पर मासिक सब्सिडी को बढ़ाकर 3,000 लीटर कर दे.

उन्होंने आगे कहा कि, 'हमारे पास रामेश्वरम में 700 से अधिक मशीन से निर्मित नावें हैं. किन्तु फिलहाल हम उन नावों का उपयोग नहीं कर सकते है, क्योंकि डीजल की कीमत 98 रुपये प्रति लीटर हो गई है”.  सागयम ने कहा कि, “द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में डीजल सब्सिडी में बढ़ोतरी करने का वादा किया था, किन्तु बजट में ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है. इससे हम काफी निराश हैं.”

मछुआरों ने कहा कि वे डीजल की उच्च लागत, मछली पकड़ने में गिरावट और नावों के संचालन में असमर्थता की वजह से होने वाले नुकसान के चलते पीड़ित हैं. उन्होंने केंद्र सरकार से उनकी आजीविका बचाने और बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा अर्जित करने वाले मछली पकड़ने के उद्योग की रक्षा के लिए फ़ौरन कार्रवाई करने का अनुरोध किया. उन्होंने मछली के उचित मूल्य की भी मांग की.

जानिए आखिर क्यों PM मोदी ने की बेंगलुरु के छात्र की तारीफ?

मध्य प्रदेश सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की लागू

एलआईसी में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति देने पर विचार कर रहा केंद्र

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -