किसानों का प्रदर्शन और विरोध और भी हुआ तेज, क्रोध -क्रोध में फूंक दिया कृषि मंत्री का पुतला

By Emmanual Massey
Nov 27 2020 02:22 PM
किसानों का प्रदर्शन और विरोध और भी हुआ तेज, क्रोध -क्रोध में फूंक दिया कृषि मंत्री का पुतला

बुलंदशहर के शिकारपुर तहसील इलाके के गांव मामऊ में कृषक सभा /मार्क्सवादी कम्युनिस्ट के बैनर तले आज शुक्रवार सुबह दिन निकलते ही किसान, मजदूर, व्यापारी विरोधी कृषि कानूनों के विरुद्ध किसान सभा सहित देश के सैकड़ों किसान संगठनों के आवाहन पर किसान सभा ने मामऊ रानीवाला रोड पर प्रदर्शन कर कृषिमंत्री का पुतला फूंका। जंहा इस बात का पता चला है कि आंदोलनकारियों को किसान सभा के अध्यक्ष जयभगवान शर्मा ने संबोधित किया। जंहा दिल्ली घेराव के लिए आ रहे किसानों पर बीजेपी सरकार द्वारा की गई गिरफ्तारी, लाठीचार्ज व वाटर कैनन के इस्तेमाल की आलोचना कर रहे है।

मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी  की मोदी सरकार में बीजेपी राज्य सरकारों का जनविरोधी फासीवादी रूप देश के सामने प्रकट हो किए जा रहे है। बल प्रयोग से किसानों के आंदोलन को कुचला नहीं जा सकता। वक्ताओं ने बोला कि मोदी सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों से किसान मजदूर व्यापारी बर्बाद हो सकते है। हम बता दें कि यह कानून किसानों की जमीनों को कंपनियों द्वारा हड़पे जाने का रास्ता बना रहा है। दूसरी ओर आम उपभोक्ताओं पर महंगाई का बोझ और भी तेजी से बढ़ जाएगा। बिजली सहित समस्त सार्वजनिक क्षेत्र का निजी काम करके देश की संप्रभुता को खतरे में डाल सकता है।

इतना ही नहीं मजदूरों को गुलाम बनाने के लिए श्रम कानूनों में संशोधन किए जा चुके हैं। जंहा इस बारें में उन्होंने योगी सरकार द्वारा कर्मचारियों की हड़ताल पर रोक लगाने के लिए एस्मा कानून लागू करने को तानाशाही कदम कहा जा रहा है।

दिल्ली पुलिस को केजरीवाल सरकार से लगा झटका, ठुकराई किसानों के लिए अस्थाई जेल बनाने की मांग

भारतीय रेलवे ने 31 दिसंबर तक जारी की फेस्टिवल के लिए स्पेशल ट्रेनें

SARS-CoV-2 वायरस मानव कोशिकाओं पर एक रिसेप्टर से चिपक जाता है: अध्ययन