आठ नवम्बर को देश के इतिहास में कलंक के तौर पर देखा जाएगा : राहुल गाँधी

Nov 09 2018 10:02 AM
आठ नवम्बर को देश के इतिहास में  कलंक के तौर पर देखा जाएगा : राहुल गाँधी

नई दिल्ली. देश के अधिकतर राज्यों में चुनाव तेजी से नजदीक आ रहे है और अगले साल के लोकसभा चुनाव भी अब ज्यादा दूर नहीं है. चुनावों के इस माहौल में देश की तमाम राजनैतिक पार्टियों और नेताओं ने एक दूसरे पर तंज कसने के साथ-साथ आरोप प्रत्यारोप लगाना भी तेज कर दिया है और ऐसे में जिन मुद्दे को सबसे ज्यादा उछाला जा रहा है उनमे से एक है नोटेबंदी. इस मामले को लेकर देश की कई विपक्षी पार्टियां पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर लगातार निशाने साध रही है. 

भाई दूज पर दिल्ली सरकार का बड़ा तोहफा, महिलाओं को मुफ्त यात्रा प्रदान करेगी DTC

देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर ऐसे ही कई निशाने साधे है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में नोबंदी को लेकर पीएम मोदी पर निशाने साधते हुए कहा है कि आठ नवंबर की तारीख को भारत के इतिहास में  हमेशा कलंक के तौर पर देखा जाएगा. राहुल के मुताबिक केंद्र के इस बेबुनियाद फैसले की वजह से देश को बहुत नुक्सान झेलना पड़ा है और अर्थव्यवस्था को जीडीपी के एक प्रतिशत के बराबर घाटा हुआ है. 

महाराष्ट्र: बिजली के तारों से लगी मालगाड़ी के दो डिब्बों में आग

राहुल गाँधी ने इस दौरान यह भी कहा कि नोटबंदी की वजह से 15 लाख लोगों को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने इस दौरान पीएम मोदी पर गंभीर आरोप लगाते हुए यह भी कहा है कि नोटेबंदी का फैसला ‘सूट-बूट वाले मित्रों’ के कालेधन को सफ़ेद करने के लिए ही लिया गया था. 

ख़बरें और भी 

भाजपा को नोटबंदी की सजा देने के लिए तैयार है जनता : शिवसेना

एअर इंडिया के ग्राउंड हैंडलिंग कर्मचारियों की हड़ताल जारी, हवाई उड़ानें हो रहीं प्रभावित

भाजपा को नोटबंदी की सजा देने के लिए तैयार है जनता : शिवसेना

गुजरात बोर्ड टॉपर थी ये हॉट एक्ट्रेस, इंडस्ट्री में बनाई अपनी बोल्ड पहचान

?