BIG BREAKING: फिर बदले जाएंगे नोटबंदी में बंद हुए 500 और 1000 के नोट? सुप्रीम कोर्ट कर रही विचार!

देश में नोटबंदी होने के बाद काफी हंगामा मचा था, हालाँकि इसको अधिसूचना को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर शुक्रवार को संविधान पीठ के सामने सुनवाई हुई। जी हाँ और जस्टिस एसए नजीर की अध्यक्षता वाली पांच जजों की पीठ ने संकेत दिया कि पुराने नोटों को बदलने के लिए एक व्यवस्था बनाने पर विचार किया जाएगा। आप सभी को बता दें कि जजों का कहना रहा कि कुछ विशेष मामलों में ही अनुमति दी जाएगी। आपको बता दें कि संविधान पीठ इस मामले में 5 दिसंबर को सुनवाई जारी रखेगी। जी दरअसल दायर की गई इन याचिकाओं में नोटबंदी की 8 नवंबर 2016 की अधिसूचना को अवैध बताते हुए चुनौती दी गई है।

तेजी से बढ़ रही रश्मिका की परेशानी, कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री में इस वजह से लगा बैन

वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल वेंकटरमणि ने कहा कि, 'कोर्ट इस तरह का आदेश नहीं दे सकता। नोटबंदी के बाद नोट बदले जाने के लिए विंडो को काफी आगे बढ़ाया गया था लेकिन लोगों ने इसका फायदा नहीं उठाया।' इसी के साथ उन्होंने कहा कि कुछ विशेष मामलों में सरकार नोट बदले जाने के बारे में विचार कर सकती है। आपको बता दें कि शीर्ष अदालत में सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने नोटंबदी की अधिसूचना का बचाव किया। जी हाँ और उन्होंने कहा कि यह जाली नोट की समस्या और आतंकवाद की फंडिंग रोकने के लिए उठाया गया कदम था।

आपको बता दें कि याचिकाकर्ता का कहना है कि पुराने नोट का हम क्या करें। मेरे पास एक करोड़ रुपये से ज्यादा के पुराने नोट हैं। कोर्ट ने कहा, आप इन्हें संभाल कर रखिये। मेरी जब्त की गई लाखों रुपये की रकम अदालत में जमा है, लेकिन नोटबंदी के बाद वह बेकार हो गई। हम विदेश में थे। विंडो मार्च से पहले बंद हो चुकी थी। कहा गया था कि मार्च के अंत तक खुली रहेगी।

मौत की खबर सुन अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे घरवाले, अचानक जिंदा हो गई महिला

कमाई के मामले में सबसे आगे निकली 'पोन्नियिन सेल्वन 1'

संविधान दिवस पर CJI ने नेहरू को किया याद, जानिए क्या बोले चीफ जस्टिस ?

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -