लोगों में योग के प्रति बढ़ी रूचि, योग इंस्‍ट्रक्‍टर की मांग में होगा 35% इजाफा

औद्योगिक संस्‍था एसोचैम ने अपनी रिपोर्ट में कहा की अभी हाल ही में 21 जून को सफलतम रूप से संपन्न हुए विश्व योग दिवस पर लोगो में योग के प्रति रूचि काफी बड़ी है. योग से न सिर्फ आपका मानसिक संतुलन ठीक रहता है बल्कि कसरत, मेडिटेशन से आपकी बॉडी भी फिट रहती है और शारीरिक स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। साथ ही योग के लाभ के प्रति बढ़ती जागरूकता और इस पर सरकार के विशेष जोर दिए जाने से अगले कुछ सालों में योगा इंस्‍ट्रक्‍टर की मांग में 30-35 फीसदी का इजाफा होने की उम्‍मीद है। लोगों के फिट रहने की आदत ने योग में करियर की नई राहें खोल दी है। यही वजह है कि युवा योगा इंस्ट्रक्टर के रूप में करियर बना रहे हैं। जब हम बात योग की बात करते हैं तो हमारे जहन में सिर्फ आसन, प्राणायाम, ध्यान, मुद्राएं ही आती हैं, लेकिन ऎसा नहीं है। योग बहुत ही विस्तृत विषय है। इसका क्षेत्र कर्म योग, ज्ञान योग, हठ योग, मंत्र योग, कुडली जागृति जैसे कई योग-साधनों से है। 

योग में करियर बनाने के लिए जरूरी है कि आप एक अच्छे वक्ता हों। आप में एक व्यक्ति से लेकर ग्रूप तक को अपनी बात योग के जरिए समझाने की क्षमता होनी चाहिए। योग टीचर बनने से पहले स्वंय भी योग के बारे में विस्तृत जानकारी हो। एक भी गलत आसन, कसरत नई बीमारी का जन्म दे सकती हैं। योग को करियर चुनने की सोच रहे हैं तो यह अच्छा विचार है, लेकिन करियर बनाने से पहले इससे होने वाली आमदनी के बारे में जान लें। योग आप किसको करा रहे हैं इससे आपकी आमदनी तय होती है। कई योग शिक्षण संस्थान हैं जहां आपको नौकरी मिल सकती है। 

आप अपना काम शुरू कर सकते हैं। काम कितना मिलेगा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप योग को कितना समझते हैं, दूसरों को योग से कितना प्रभावित कर पाते हैं। सरकार द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस को लेकर जिस तरह के कदम उठाए जाने से दुनियाभर का ध्‍यान योग की ओर आकर्षित हुआ है। एसोचैम ने कहा है कि इस तरह के बहुप्रचारित अभियान की वजह से बहुत अधिक लोग योग को अपना रहे हैं, जिसके लिए प्रशिक्षित शिक्षकों की आवश्‍यकता है।  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -