जानिए किन उम्र के लोगों को डेल्टा वेरिएंट से है खतरा?

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण का डेल्टा (B।1।617।2) वेरिएंट बच्चे से लेकर 80 वर्ष के सभी उम्र के व्यक्तियों को प्रभावित करता है। इससे महिलाएं तथा पुरुष समान तौर पर प्रभावित होते हैं, हालांकि पुरुष रोगियों की संख्या थोड़ी ज्यादा है। डेल्टा वेरिएंट के केस 20-30 आयु वर्ग में ज्यादा संख्या में पाए जाते हैं। बच्चे, किशोर तथा 30-39 आयु श्रेणी के लोग भी इससे प्रभावित होते हैं।

भारत सहित विश्व भर में डेल्टा वेरिएंट तथा इसके म्यूटेशन की देखभाल कर रहे पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड के मुताबिक, डेल्टा वेरिएंट का संक्रमण सभी आयु और लिंग ग्रुप के लोगों को प्रभावित करता नजर आता है। हालांकि हैदराबाद तथा तेलुगू प्रदेशों में कोरोना मामलों का जीनोम विश्लेषण बहुत सीमित है। ये कहा जाता है कि डेल्टा वेरिएंट पहले महाराष्ट्र में पाया गया था तथा आरम्भ में इसे डबल म्यूटेंट के रूप में करार दिया गया। डेल्टा वेरिएंट से ही देश भर में दूसरी लहर में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं।

तेलंगाना सरकार की ओर से रोजाना जारी किए गए कोरोना संक्रमित केसों का ब्रेकअप भी दूसरी लहर के चलते सभी आयु वर्ग के लोगों को महामारी से प्रभावित होने का संकेत देता है। डेल्टा वेरिएंट को हाल ही में डेल्टा प्लस या AY।1 के रूप में उभरने के लिए एक म्यूटेशन (K417N) प्राप्त हुआ है, उसे अब AY।2 के रूप में उभरने के लिए स्पाइक प्रोटीन में एक और म्यूटेशन प्राप्त हुआ है। हालांकि AY।1 वेरिएंट भारत सहित कम से कम 10 देशों में पाया गया है, जिसमें अब तक आठ केस हैं। वहीं AY।2 अभी अमेरिका तक सीमित है तथा ये अब तक अन्य स्थानों पर नहीं मिला है।

आंध्र सरकार से खफा हुआ तेलंगाना, जानिए क्यों?

केंद्र में भाजपा सरकार के 7 वर्ष हुए पूरे, जेपी नड्डा ने मोदी सरकार की प्रशंसा में कही ये बात

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! DA के बाद अब TA को लेकर आई बड़ी खबर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -