गिरफ्तार हुए आतंकी ने किए हैरतअंगेज खुलासे

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की विशेष सेल के समक्ष पाकिस्तान के आतंकी अशरफ ने बड़े खुलासे किए है। सूत्रों के अनुसार, वर्ष 2011 में उच्च न्यायालय के बाहर जो ब्लास्ट हुए थे, उस के चलते अशरफ ने उच्च न्यायालय की रेकी की थी। ब्लास्ट में सम्मिलित एक संदिग्ध की तस्वीर दिखाई गई, तो अशरफ ने कहा इसने रेकी की थी। हालांकि संदिग्ध उस ब्लास्ट में सम्मिलित था या नही ये अभी पूछताछ में स्पष्ट होगा अब तक इस प्रकार के सबूत फिलहाल नहीं प्राप्त हुए है।

वही इसके अतिरिक्त 2011 के आसपास अशरफ ने आईटीओ स्थित पुलिस हेडक्वाटर ( पुराना पुलिस हेडक्वाटर ) की रेकी की थी। आतंकी ने कहा कि कई बार रेकी की मगर अधिक खबर नहीं प्राप्त हो पाई, क्योकि पुलिस हेडक्वाटर के बाहर व्यक्तियों को रुकने नहीं देते थे। इसी के साथ आईएसबीटी की रेकी करके भी अशरफ ने जानकारिया पाकिस्तान के हैंडलर्स को भेजी थी। अशरफ दिल्ली के या किसी और ब्लास्ट में सम्मिलित रहा है, इसको लेकर जांच एजेंसियां इससे पूछताछ कर रही है। मोहम्मद अशरफ ने पूछताछ में कहा कि उसने इंडिया गेट तथा लाल किले की भी रेकी की थी। पूछताछ में अशरफ ने लगभग ऐसी 10 स्थानों की रेकी करने की बात स्वीकार की है। पूछताछ में अशरफ ने ये भी कहा है कि वो नई दिल्ली के वीआईपी क्षेत्र को टारगेट नहीं करना चाहता था। क्योंकि वहां कैसुअलटी कम होती।

अशरफ ने कहा कि उसने ये सभी रेकी कई वर्ष पहले की थी। मगर अभी इसने कहां रैकी की और कहा आतंकी घटना को अंजाम देना चाहता था, वो नही बताया है। दिल्‍ली के लक्ष्‍मीनगर से मंगलवार को गिरफ्तार पाक आतंकी देश की राजधानी सहित कश्‍मीर घाटी में भी कई बड़े आतंकी हमले करने की फिराक में था। मगर इससे पूर्व दिल्‍ली की विशेष सेल ने पाक खुफिया के षड्यंत्र को विफल कर दिया। दिल्ली पुलिस सूत्रों के अनुसार, ये आतंकी बीते 15 वर्षो से दिल्ली में रह रहा था तथा इसने हिंदुस्तानी लडक़ी से शादी भी कर ली थी।

अचानक रेलवे स्टेशन के पास डबल डेकर ट्रेन पर हुआ पथराव, यात्रियों का हुआ बुरा हाल

नवरात्रि में शक्ति की आराधना के समय जपें ये मंत्र

RSS प्रमुख भागवत बोले- आज़ादी के बाद से ही 'सावरकर' को बदनाम किया जा रहा, अगला नंबर स्वामी विवेकानंद...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -