दिल्ली : कमरे में लगा रहे एक साथ 4 क्लास, बाकि बना दिया पार्किंग

Sep 19 2015 03:16 AM
दिल्ली : कमरे में लगा रहे एक साथ 4 क्लास, बाकि बना दिया पार्किंग

नई दिल्ली: राष्ट्रिय राजधानी में खोखली स्कूल सुविधाओ की पोल खुली है। स्कूल में बदइंतजामी की जवाबदेही तय करते हुए दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को डिप्टी डायरेक्टर एजुकेशन नीना कुमारी और एजुकेशन ऑफिसर के के सोरटे को सस्पेंड कर दिया। प्रिंसिपल आशाराम को नौकरी से हटाने और एक लैब असिस्टेंट रामबीर सिंह दहिया को जबरन रिटायर करने के आदेश दिए गए हैं।

उप मुख्यमंत्री ने किया औचक निरीक्षण इन अव्यवस्थाओ का भांडा तब फूटा जब शुक्रवार को दोपहर बाद उप-मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया अचानक गवर्नमेंट ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल, अलीपुर जा पहुंचे। वहां पहुंचे तो उन्होंने देखा कि एक हॉल में 4 कक्षाएं लगाई जा रही हैं जबकि स्कूल में 10 कमरे मौजूद है और वह बंद पड़े हैं। और जो कमरे बंद है उनमे शिक्षको और कर्मचारियों की मोटर साइकिलें खड़ी की जा रही थी। प्रयोगशालाओं और कक्षाओं का नजर ऐसा था जैसे की कई सालो से जाले नहीं हटाए गए। कई कक्षाओं में कूड़ेदान का नामोनिशान नही था जिसके कारण वही कोने में कचरा पड़ा हुआ है। विज्ञान की प्रयोगशालाओं में उपकरण नहीं हैं, बल्कि मोटरसाइकिलें खड़ी हैं।

11वीं के विद्यार्थियों ने उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के सामने अपनी व्यथा बया की तो मालूम हुआ की यहा तो सारा सर बच्चो के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। बच्चो ने बताया कि उन्होंने आज तक कैमिस्ट्री के लैब असिस्टेंट रामबीर सिंह दहिया की शक्ल नहीं देखी। एक तरफ दिल्ली में डेंगू को लेकर हाहाकार मची हुई है वही राजधानी के स्कूल में न तो सफाई है और न ही कोई सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है। स्कूल में गंदगी पसरी हुई है और कक्षाए लगाई जा रही है। ऐसे में कही न कही स्कूली बच्चो के ऊपर डेंगू होने का खतरा मंडराता हुआ नज़र आता है। वही उप-मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा की यह लापरवाह कर्मचारी हमारे बच्चो का भविष्य तबाह कर रहे इनके खिलाफ सख्त कारवाही की जाएगी और इन्हे बिलकुल भी नही बक्शा जायेगा।