दिल्ली पुलिस और किसान नेताओं की बैठक में हुई यह बातें

नई दिल्ली: संसद का मॉनसून सत्र कल से यानी सोमवार से शुरू हो रहा है। ऐसे में किसान संगठनों ने कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर आने वाले 22 जुलाई को संसद का घेराव करने का ऐलान किया है। लेकिन दिल्ली पुलिस संसद भवन के बाहर प्रदर्शन की इजाजत नहीं दे रही है। अब इसी मुद्दे पर आज यानी रविवार को दिल्ली पुलिस और किसान नेताओं के बीच बैठक हो रही है। आपको बता दें कि यह बैठक सिंघु बॉर्डर के पास मंत्रम बैंक्विट हॉल में चल रही है और इस बैठक में ज्वाइंट सीपी और डीसीपी स्तर के अधिकारी मौजूद हैं। जी दरअसल किसानों की तरफ से बैठक में 9 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल मौजूद है।

ऐसे में पुलिस यह नहीं चाहती कि किसान संसद के सामने धरना प्रदर्शन करें। ऐसी खबरें हैं कि दिल्ली पुलिस संसद के सामने प्रदर्शन की मंजूरी देने के पक्ष में नहीं है। वैसे इस बैठक में पुलिस की तरफ से यह साफ कर दिया जाएगा कि किसानों को संसद भवन के सामने प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जाएगी। लेकिन किसानों को जंतर मंतर का विकल्प दिया जा सकता है और इसमें भी सीमित संख्या में ही किसान शामिल हो सकेंगे।

आपको बता दें कि इससे पहले किसानों और दिल्ली पुलिस के बीच 24 जनवरी को बैठक हुई थी। वहीँ इस बैठक में पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर सीमित संख्या में किसानों को ट्रैक्टर मार्च निकालने की अनुमति दी थी। वहीँ इस दौरान पूरी दिल्ली में हिंसा की घटनाएं सामने आईं थीं। जी दरअसल इस दौरान कई जगहों पर पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प भी हुई थी। आपको हम यह भी बता दें कि दिल्ली एनसीआर के 7 मेट्रो स्टेशनों को अलर्ट पर रखा गया, ताकि जरूरत पड़ने पर कभी भी बंद करवाया जा सके।

WhatsApp ने लॉन्च किया बेहतरीन फीचर, मिलेगा भारी फायदा

अगर घर की महिला पढ़ी-लिखी होगी तो जनसंख्या खुद नियंत्रित हो जाएगी: संजय राउत

कलह खत्म करने के लिए विधायक मदनलाल के घर पहुंचे सिद्धू, साथ में थे ये 6 लोग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -