क्या झूठी है मौलाना साद की कोरोना जांच रिपोर्ट ? दिल्ली पुलिस ने कही ऐसी बात

नई दिल्ली: दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीग़ी जमात के मुखिया मौलाना साद, जाकिर नगर में अपने रिश्तेदार के घर पर क्वारंटीन में था, 14 दिन का क्वारंटीन पीरियड समाप्त होने के बाद उसका दावा है कि उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है. हालांकि, दिल्ली पुलिस ने साद को कहा है कि वो सरकारी अस्पताल से टेस्ट कराकर अपनी रिपोर्ट की प्रतिलिपि पुलिस के पास जमा कराए.

दिल्ली पुलिस अब तक मौलाना साद के तीन बेटों सहित कुल 17 लोगों से पूछताछ कर चुकी है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मरकज के हवाला कनेक्शन को लेकर साद के 5 बेहद करीबी लोगों से 21 और 22 अप्रैल को पूछताछ की है. दिल्ली अपराध शाखा की एक टीम मौलाना साद की दौलत और संपत्ति की जांच कर रही हैं, इसी लिए अपराध शाखा की टीम शामली के कांधला में उसके फार्म हाउस गई थी.

दिल्ली पुलिस और ED को अपनी जांच में पता चला कि 849 विदेशी नागरिक इस वर्ष मरकज के सालाना कार्यक्रम में आए थे. जो बाद में देश के विभिन्न राज्यो में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के घर फंड इकठ्ठा करने के लिए चले गए थे, इनमें से काफी सारे लोगों की तलाश अभी भी पुलिस को है.

एयर इंडिया के कर्मचारियों ने उड्डयन मंत्रालय को लिखी चिट्ठी, कहा- हमारे वेतन में ना की जाए कटौती

लॉकडाउन के बीच 500 टन माल पहुंचा चुकी है भारतीय वायु सेना

अब जरुरी उत्पाद बेच सकेंगी ई- कॉमर्स कंपनियां, केंद्र सरकार ने जारी किया नया आदेश

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -