दिल्ली पुलिस ने दंडाधिकारी जांच में शामिल होने से किया इंकार

Apr 23 2015 10:13 PM
दिल्ली पुलिस ने दंडाधिकारी जांच में शामिल होने से किया इंकार
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी (आप) की जनसभा के दौरान किसान के खुदकुशी मामले की दंडाधिकारी जांच में शामिल होने से दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को यह कहते हुए इंकार कर दिया कि नामित अधिकारी का मामले में कोई क्षेत्राधिकार नहीं है। दिल्ली पुलिस आयुक्त बी.एस.बस्सी ने यहां संवाददाताओं से कहा, "हमने उन्हें एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि यह उनके (जिला दंडाधिकारी) क्षेत्राधिकार से बाहर है।" 

बस्सी ने कहा कि गजेंद्र सिंह के पोस्टमॉर्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक उसकी मौत फांसी लगने से हुई है। दिल्ली सरकार ने बुधवार को नई दिल्ली के जिला दंडाधिकारी को आत्महत्या के इस मामले की जांच के लिए कहा था। नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त विजय सिंह ने नई दिल्ली के जिला दंडाधिकारी को पत्र लिखा था कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और मामले की जांच की जा रही है। 

जांच के दौरान आप के नेताओं से पूछताछ की संभावना के सवाल पर बस्सी ने कहा कि मामले की पूरी तरह से जांच होगी और सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जांच से संबंधित सूचनाएं सही समय पर मीडिया को दी जाएंगी। इससे पहले दिन में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा कि किसान की खुदकुशी मामले की जांच को दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के सुपुर्द कर दिया गया है। 

दिल्ली पुलिस द्वारा उपलब्ध सूचनाओं के आधार पर राजनाथ ने कहा कि गजेंद्र सिंह एक झाड़ू के सहारे पेड़ पर चढ़ा था और उसने वहां फांसी लगा ली। पुलिस ने फायर ब्रिगेड को बुलाया था, ताकि उसे नीचे उतारा जा सके। सिंह ने कहा, "पुलिस ने लोगों से तालियां बजाने और उसका उत्साहवर्धन करने से मना किया।"