करोल बाग अग्निकांड : क्या होटल का आपातकालीन दरवाजा बंद होने से हुई इतनी मौते?

Feb 13 2019 08:32 AM
करोल बाग अग्निकांड : क्या होटल का आपातकालीन दरवाजा बंद होने से हुई इतनी मौते?

दिल्ली के करोल बाग इलाके में स्थित अर्पित पैलेस होटल में मंगलवार सुबह भयानक आग लग गई थी जिसके कारण करीब 17 लोगों ने अपनी जान गवां दी थी. आग लगने के बाद पीएम मोदी सहित सीएम केजरीवाल ने भी शोक जताया था. इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस ने इस बारे में बताया कि होटल का आपातकालीन द्वार 'बहुत संकीर्ण' था और बंद भी था.

सूत्रों की माने तो करोल बाग इलाके में घटनास्थल का दौरा करने वाले मंत्री ने कहा इस घटना के बारे में कहा कि उन्हें यकीन था कि होटल ने मानदंडों का उल्लंघन किया होगा. अल्फोंस ने आगे ये भी कहा कि, 'उन्होंने मेयर से बात की और उनसे यह जांच करने के लिए कहा है कि क्या सभी नियमों का पालन किया गया है और होटल प्रबंधन की ओर से कोई चूक होने पर तत्काल कार्रवाई की जाए.' दमकल विभाग ने घटना के बारे में कहा कि, 'धमाके में 35 लोग घायल हो गए और उन्हें नजदीकी अस्पतालों में ले जाया गया.'

जिस समय होटल में आग लगी उस वक्त होटल में मौजूद लगभग साठ लोगों में से ज्यादातर सो रहे थे. मीडिया रिपोर्ट्स में तो ये भी कहा गया है कि, 'मरने वालों में एक महिला और बच्चे की मौत खिड़की से कूदने की कोशिश करने के क्रम में हो गई.' अग्निशमन अधिकारियों ने घटना में हुई मौतों के बारे में कहा कि, 'अधिकांश मौतें दम घुटने के कारण हुई हैं. जबकि कुछ ऐसे थे जिन्होंने जलने के कारण दम तोड़ दिया.' इतना ही नहीं होटल में कुछ इस्तेमाल किए गए अग्निशामक यंत्र भी पाए गए थे जिसके द्वारा ये पता चला कि अंदर आग में फंसे लोगों ने भागने की कोशिश तो की ही थी और साथ ही आग की लपटों को बुझाने की भी कोशिश की थी. लेकिन उनके लिए निकल पाना असंभव हो गया होगा.

इस कारण अब दिल्ली में आप सरकार नहीं बनाएगी चार साल पूरे होने पर जश्न

करोलबाग : होटल में लगी भीषण आग के बाद पीएम मोदी ने जताया शोक, सीएम ने किया मुआवजे का एलान

दिल्ली के होटल में आग का कहर, 17 हुई मरने वालों की संख्या