'एलोपैथी की दवा से लाखों मर गए', बयान पर बाबा रामदेव को दिल्ली HC का नोटिस

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को योग गुरु स्वामी रामदेव को एलोपैथी पर उनकी टिप्पणी के लिए नोटिस भेजा है। स्वामी रामदेव ने कोरोना मामलों के उपचार के तरीके को लेकर डॉक्टरों की आलोचना की थी। उच्च न्यायालय ने रामदेव को एलोपैथी और एलोपैथिक डॉक्टरों के खिलाफ "गलत सूचना फैलाने" के लिए नोटिस भेजा है। मामले की सुनवाई 10 अगस्त को हो सकती है।

हलांकि, बाबा रामदेव ने टिप्पणी वाली वीडियो क्लिप, सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अपना बयान वापस ले लिया था। वीडियो में उन्हें कोरोना वायरस संक्रमण के उपचार के लिए इस्तेमाल की जा रही कुछ दवाओं पर सवाल करते हुए यह कहते हुए सुना गया था कि "कोरोना के लिए एलोपैथिक दवाएं लेने के बाद लाखों लोग मारे गए हैं"। इस टिप्पणी का डॉक्टर संगठनों ने जमकर विरोध किया, जिसके बाद तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उन्हें "बेहद दुर्भाग्यपूर्ण" बताते हुए बयान को वापस लेने को कहा था।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने स्वामी रामदेव को एलोपैथी और एलोपैथिक डॉक्टरों के विरुद्ध उनकी कथित टिप्पणी के लिए मानहानि का नोटिस दिया था, जिसमें उनसे 15 दिनों के अंदर माफी मांगने की मांग की गई थी, जिसमें नाकाम रहने पर उसने कहा कि वह योग से 1,000 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग करेगा।

अगस्त 2022 तक चालू होगा गोवा का नया हवाई अड्डा

लगातार 13वें दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, जानिए आज का दाम

सीईए ने कहा- "जीएसटी दर संरचना का युक्तिकरण सरकार के एजेंडे में..."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -