बड़ी खबर: दिल्ली के शिक्षा मॉडल को महारष्ट्र में भी किया जाएगा शुरू

नई दिल्ली: बीते दिन यानी मंगलवार को महाराष्ट्र गवर्नमेंट के राज्यमंत्री संजय बनसोडे ने दिल्ली गवर्नमेंट के दो स्कूलों कौटिल्य गवर्मेंट सर्वोदय बाल विद्यालय और कालकाजी स्थित स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के दौरे को पूरा किया। इस बीच उनके साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी वहां मौजूद थे। महाराष्ट्र के मंत्री ने बच्चों से बात कर बिजनेस ब्लास्टर कार्यक्रम के बारें में जानकारी ली। जहां इस बात का पता चला है कि  देशभक्ति पाठ्यक्रम और स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एजुकेशन के मॉडल को समझा और बच्चों से इस बारें में भी बात की।

मिली  जानकारी के अनुसार इस अवसर पर महाराष्ट्र के मंत्री संजय बनसोडे ने बोला कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बच्चों से मिलकर बहुत प्रभावित हुआ हूँ। हम दिल्ली के शिक्षा मॉडल को महाराष्ट्र में भी अपनाएंगे। अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने आगे कहा है कि हमारे नेता शरद पवार ने मुझसे दिल्ली जाकर वहां के गवर्नमेंट स्कूलों को देखने और दिल्ली के शिक्षा मॉडल की तर्ज पर महाराष्ट्र में भी स्कूल निर्माण करने की बात कही है। आम आदमी के लिए आप सरकार ने जो काम किया है वह वाकई में शानदार है| देश के सभी राज्यों को दिल्ली के शिक्षा मॉडल को अपनाने की आवश्यकता है | 

रिपोर्ट्स के अनुसार यह मॉडल पूरे देश में लागू कर दिया जाना चाहिए। सरकारी स्कूलों में बच्चों को निजी स्कूलों से अधिक सुविधाएं  प्रदान की जा रही है। स्कूल की लैब निजी स्कूलों से भी अधिक शानदार है। जो सामान्य लोग होते है वह आम आदमी के लिए कार्य को पूरा करते है। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बोला है कि शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए दिल्ली गवर्नमेंट और महाराष्ट्र सरकार की सहायता करने के लिए तैयार है | इस तरह एक दूसरे से सीखकर व मिलकर कार्य करने से देश की शिक्षा व्यवस्था में बदलाव लाया जा सकता है।

बक्सवाहा जंगल में मिली चंदेल कालीन कई धरोहरें, हाईकोर्ट ने हीरों के खनन पर लगाई रोक

आखिर क्या है ला नीना इफ़ेक्ट ? जिसके कारण भारत में पड़ेगी हाड कंपा देने वाली ठंड

क्या होता है 'ई-श्रम' कार्ड, जानिए इसके फायदे और पंजीकरण प्रक्रिया से लेकर सबकुछ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -