खुद के हलफनामे से फसी दिल्ली सरकार, देर से उठाए आवश्यक कदम

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार ने राज्य में फैले डेंगू को लेकर हाल ही में उच्च न्यायालय में अपनी ओर से हलफनामा दायर किया, जिसमें उन्होंने कहा कि डेंगू की रोकथाम और इससे बचाव के उपाय के लिए दिल्ली सरकार द्वारा पैसे तभी जारी किए गए जब दिल्ली में डेंगू के कारण बड़े पैमाने पर मौत हो गई। इस मामले में यह बात सामने आई कि दिल्ली में डेंगू पर लगाम लगाने के लिए इसके बचाव के उपाय किए गए। दिल्ली सरकार द्वारा तभी से पैसा जारी किया गया। दिल्ली में डेंगू के कारण बड़े पैमाने पर मौत हो गई।

इस मामले में यह जानकारी सामने आई है कि बढ़ते मामले के कारण दिल्ली में मौतें हुईं। जिस पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने सुनवाई की। दिल्ली सरकार सवालों के घेरे में आ गई। मामले में यह भी कहा गया कि डेंगू को रोकने के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाए गए। यह बात हलफनामे से भी जाहिर हुई। यह भी बताया गया कि सरकार की कथनी और करनी में बड़ा अंतर था। दिल्ली नगर पालिका द्वारा डेंगू के प्रभावों को लेकर उपाय करने और राज्य में साफ-सफाई की व्यवस्था करने की पहली किस्त ऐेसे समय जारी की गई जब दिल्ली में बड़े पैमाने पर मौते हुईं।

दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा दिल्ली सरकार से व्यवस्थाओं को लेकर प्रश्न किए गए। इस दौरान यह भी पूछा गया कि दिल्ली सरकार ने इतनी देरी से उपाय क्यों किए। दिल्ली को जब डेंगू ने पैर पसारे तो काफी देर बाद एमसीडी और एनडीएमसी द्वारा डेंगू की रोकथाम की गई। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -