छठ पूजा: यमुना की सफाई के लिए केंद्र ने केजरीवाल सरकार को दिए थे 2,419 करोड़, कहाँ गया पैसा ?

नई दिल्ली: दिल्ली में छठ पूजा को लेकर सियासी पारा चढ़ता जा रहा है. भाजपा ने DDMA की रोक के बाद भी छठ पर्व मनाने की घोषणा कर दी है. वहीं, सत्ताधारी AAP ने आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा ने छठ पूजा के लिए घाट बनने से रोका है. भाजपा ने यमुना घाटों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध के बाद भी पर्व मनाने की घोषणा की है. भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा है कि, केजरीवाल सरकार को जहरीले झाग पर प्रतिबंध लगाना चाहिए था, मगर उन्होंने प्रतिबंध छठ पूजा पर लगा दिया.

दिल्ली भाजपा आदेश गुप्ता और मनोज तिवारी ने सोनिया विहार में शाम को छठ पर्व मनाने की घोषणा की. इससे पहले भाजपा ने यमुना में प्रदूषण के लिए केजरीवाल सरकार पर हमला बोला. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि, जब भी उनसे यमुना में प्रदूषण के संबंध में पूछा जाता है तो केजरीवाल इसके लिए हरियाणा को जिम्मेदार बताते हैं. किन्तु DPCB के मुताबिक, जब यमुना हरियाणा से पल्ला में दिल्ली में प्रवेश करती है, तो BOD स्तर 2 होता है. और जब यमुना दिल्ली से निकलती है, तो इसका BOD स्तर 50 के आसपास पहुंच जाता है. ये पानी खेती के लिए भी उपयोगी नहीं है. 

उन्होंने आगे कहा कि, यमुना में नाले का गंदा पानी डाला जाता है, जिसको साफ करने के प्लांट को लगाने के लिए केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को 2,419 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं. मगर दिल्ली सरकार ने इस मुद्दे पर कोई कार्रवाई नहीं की और वो पैसा कहां गया किसी को नहीं पता. 

इस बैंक ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका, अब सेविंग्स पर मिलेगा और कम ब्याज

अपने दम पर सबसे अमीर महिला बनी नायका की संस्थापक फाल्गुनी नायर

कच्चे तेल के दामों में आया भारी उछाल, जानिए पेट्रोल-डीजल का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -