दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: साल 2015 में बीजेपी की जिन सीटों ने बचाई थी इज्जत, जानें क्या है आज उनका हाल

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम से मिले रुझानों में आम आदमी पार्टी की सरकार को बहुमत मिल गया है. वहीं रुझानों में आम आदमी पार्टी को 58 सीटें, भाजपा को 12 और कांग्रेस का तो खाता ही नहीं खुला है. जंहा यह भी कहा जा रहा है कि साल 2015 में आम आदमी पार्टी की लहर के दौरान भाजपा को भी बड़ा झटका लगा था. लेकिन फिर भी तीन सीटें जीती थीं. जिसमें रोहिणी, विश्वासनगर और मुस्तफाबाद की सीट शामिल है. ऐसे में 2020 के चुनाव में क्या है इन सीटों पर

1- रोहिणी विधानसभा सीट: शुरुआती रुझानों के मुताबिक रोहिणी से बीजेपी के विजेंद्र गुप्ता पीछे चल रहे हैं.

2- विश्वासनगर विधानसभा सीट: भाजपा प्रत्याशी ओम प्रकाश शर्मा यहां आम आदमी पार्टी प्रत्याशी दीपक सिंगला से 914 मतों से आगे हैं.

3- मुस्तफाबाद विधानसभा सीट: मुस्तफाबाद से भाजपा के जगदीश प्रधान 18329 मतों से आगे हैं. यहां आप प्रत्याशी दूसरे स्थान पर हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव में प्रधान ने 6031 मतों से जीत हासिल की थी.

मिली जानकारी के अनुसार इस बात का पता चला है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के रुझानों में आम आदमी पार्टी (आप) को स्पष्ट बहुमत मिलना तय लग रहा है. हालांकि, उसे 10 से ज्यादा सीटों का नुकसान हो रहा है. आप के हिस्से की ये सीटें भाजपा के खाते में जा रही हैं. भाजपा को पिछली बार 3 सीटें मिली थीं, वह इस बार 15 से 20 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है. हम आपको बता दें कि कांग्रेस पिछली बार की ही तरह इस बार भी शून्य पर है. 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को 62.59 फीसदी वोट डाले गए थे. दिल्ली में अभी आप की सरकार है. भाजपा 22 साल और कांग्रेस 7 साल से सत्ता से दूर है.

जानिये बॉलीवुड की उन जोड़ियों के बारे में जो रियल में है लवबर्ड्स

BJP विधायक पर भड़की महिला, कहा- 'होटल में बुलाकर बार-बार रेप...'

मंत्री पहुंचे गौशाला उट्घाटन में, लेकिन गौशाला में नहीं मिली एक भी गाय

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -