दिल्ली को प्रदूषण से कब मिलेगी राहत ? कई इलाकों में सांस लेना भी मुश्किल

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में खराब हुई फिजा सुधरने का नाम ही नहीं ले रही है. आसपास के राज्यों में जलने वाली पराली और दिवाली के अवसर पर हुई आतिशबाजी के कारण राजधानी में प्रदूषण (Delhi AQI Level) ज्यादा बढ़ गया. शुक्रवार को कई इलाकों में एयर क्वालिटी 700 से अधिक रिकॉर्ड की गई. हालांकि, औसत तौर पर यह आंकड़ा 360 है.

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक, 'दिल्ली की ओवरऑल एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 360 दर्ज की गई है.' यह एयर क्वालिटी 'बहुत खराब' श्रेणी के अंतर्गत आती है.  इससे पहले बीते दिन भी एयर क्वालिटी 'बहुत खराब' रही थी. दिल्ली-NCR में बीते कई दिनों से पॉल्यूशन के कारण दृश्यता पर भी असर पड़ा है. हवा में स्मॉग की मोटी चादरें नज़र आ रही हैं. कुतुब मीनार, लोटस टैंपल, अक्षरधाम मंदिर के आसपास के इलाकों में स्मॉग और कम दृश्यता दर्ज की गई. साथ ही 'खराब हवा' के कारण लोगों को सांस लेने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

वैसे तो दिल्ली का औसत AQI 360 दर्ज किया गया है, मगर कुछ ऐसे इलाके हैं, जहां पर पॉल्यूशन में भारी इजाफा देखने को मिला है. दिल्ली के दो इलाकों- वजीरपुर और जहांगीरपुरी में शुक्रवार को AQI 700 से ज्यादा दर्ज किया गया. इससे पता चलता है कि दिल्ली के कुछ इलाकों में प्रदूषण अन्य की तुलना में कहीं ज्यादा है. वहीं, AQI स्तर का डेटा मुहैया करवाने वाले तमाम स्टेशंस भी रेड कैटेगरी में है. मंदिर मार्ग में सुबह AQI स्तर 485 दर्ज किया गया. दिल्ली के पूसा में 359, नई दिल्ली अमेरिकी दूतावास के पास 452 AQi का आंकड़ा पाया गया.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर सुबह-सुबह मिली 'खुशखबरी', जानिए आज का भाव

गुवाहाटी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर किसी भी महिला स्टाफ को पारंपरिक कपड़ों पहनने से मना नहीं किया है | : GIA

शिक्षा के क्षेत्र में भारत, अमेरिका स्वाभाविक सहयोगी: धर्मेंद्र प्रधान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -