देहरादून के हॉस्पिटल में कोरोना से हुई आढ़ती की मौत, अब तक 10 से अधिक की जा चुकी है जान

देहरादून के हॉस्पिटल में कोरोना से हुई आढ़ती की मौत, अब तक 10 से अधिक की जा चुकी है जान

देहरादून: बीते कुछ माह से लगातार बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर मासूम लोगों की जान का दुश्मन  बन चुका है, हर दिन इस वायरस के कारण दुनियाभर में हजारों मौते हो रही है. वहीं लगातार संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रह है, इतना ही नहीं अब तो कोरोना वायरस ने एक महामारी का रूप भी ले लिया है जिसके बाद से लोगों के घरों में खाने की किल्लत बढ़ती ही जा रही है न जाने इस वायरस के कारण और ऐसी कितनी मासूम जिंदगियां है जो तबाही के कगार पर आ चुकी है. जानकारी के लिए हम बता दें कि निरंजनपुर सब्जी मंडी के 48 वर्षीय आढ़ती और उसके छह परिजन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. सभी को 26 मई को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था. डिप्टी एमएस डॉ. एनएस खत्री ने बताया कि तबीयत बिगड़ने पर आढ़ती को चार दिन पूर्व आईसीयू में शिफ्ट किया गया था. शनिवार रात उनकी हार्ट अटैक से मौत हो गई. शव मोर्चरी में रखवा दिया गया है.

मृतक को आखिरी बार देख तक नहीं पाए घरवाले: मिली जानकारी के अनुसार रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. वहीं, परिवार के अन्य सदस्यों को जाखन स्थित एक पेड क्वारंटीन होटल में शिफ्ट किया गया था. इनमें आढ़ती की 42 वर्षीय पत्नी और 14 साल व साढ़े छह साल की बेटियां भी शामिल हैं. मौत की सूचना पर परिजन शव के दर्शन करना चाहते थे, लेकिन गाइडलाइन के मुताबिक उन्हें अनुमति नहीं दी गई.

सामुदायिक संक्रमण की आशंका: निरंजनपुर सब्जी मंडी में लगातार आढ़तियों, अन्य कर्मचारियों और उनके परिवारों में कोरोना संक्रमण होने के बावजूद मंडी को समय से बंद न करने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. दबी जुबान में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी देहरादून में सामुदायिक संक्रमण की आशंका भी जता रहे हैं. फिलहाल डीएम डॉ आशीष श्रीवास्तव के आदेश पर निरंजनपुर सब्जी मंडी को 11 जून तक पाबंद किया जा चुका है.

अस्पताल का बिल न चुकाने पर बुजुर्ग को रस्सी से बेड पर बांधा, सीएम शिवराज ने बोली ये बात

बिजली उपभोक्ताओं को जून के बिल में मिलेगी राहत, जानें कैसे मिलेगा लाभ

भोपाल के नए इलाकों में फैला कोरोना संक्रमण, 40 नए पॉजिटिव मिले