लद्दाख में गरजे राजनाथ सिंह, कहा- कश्मीर कब पाकिस्तान का था, जो आज वह रो रहा है ...

लेह: जम्मू-कश्मीर से संविधान की धारा 370 हटाए जाने और लेह-लद्दाख के केन्द्र शासित राज्य बनने के बाद अब धीरे-धीरे सरकार की ओर से घाटी में लगाई गई पाबंदियों में ढील देना शुरू किया गया है. जम्मू के कुछ क्षेत्रों में मोबाइल सेवा फिर से शुरू की गई है. धारा 370 हटने के बाद देश के केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को लद्दाख दौरे पर पहुंचे हैं. राजनाथ सिंह ने वहां किसान-जवान विज्ञान मेले का उद्घाटन किया.

इस उद्घाटन समारोह में बड़ी तादाद में स्थानीय लोगों से साथ ही जवान भी उपस्थित रहे. राजनाथ सिंह ने इस दौरान किसानों, जवानों और विज्ञान के क्षेत्र में प्रशंसनीय काम करने वाले लोगों को संबोधित किया. अपने संबोधन में राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा है कि, "मैं पाकिस्तान से पूछना चाहता हूं, कश्मीर कब पाकिस्तान का था कि उसको लेकर रोते रहते हो? पाकिस्तान बन गया तो हम आपके वजूद का सम्मान करते हैं. इस मामले में पाकिस्तान की कोई स्थान नहीं है."

कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने सियाचिन दौरे पर जवानों से मिलने का जिक्र करते हुए कहा कि, "मैंने मंत्रालय संभालने के बाद सबसे पहले सियाचिन कि स्थिति देखने की इच्छा जाहिर की. उनका कार्य देखकर मेरा हौंसला बुलंद हुआ है. कठिन हालात में मुस्कुराते हुए मैंने उन्हें देखा, वो साधारण मनुष्य नहीं हैं. मैंने उनसे कहा कि मैं वापस जा रहा हूं आपके घर पर पत्र भेजूंगा कि मैं आपस मिला हूं और आप सही सलामत हैं. मैंने सबको लिखा कि हमें आपके बच्चों पर फख्र है."

आज़म खान के खिलाफ दर्ज हुआ एक और मुकदमा, अब लगा डकैती का आरोप

रक्षा मंत्री आज लद्दाख के दौरे पर, येचुरी श्रीनगर के लिए रवाना

सीएम येदियुरप्पा का बड़ा बयान, कहा- बंद नहीं की जाएगी इंदिरा कैंटीन, लेकिन कुछ शिकायतें...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -