भारत और रूस के बीच हुई 5200 करोड़ की डिफेंस डील, हिंदुस्तान में बनेगी AK 203 राइफल

नई दिल्ली:  भारत और रूस ने अपने रक्षा सहयोग को और मजबूत करते हुए हथियार निर्माण पर सोमवार को एक बड़ी डील पर हस्ताक्षर किए। दोनों मित्र राष्ट्रों के बीच 5,200 करोड़ रुपए की कलाश्निकोव डील हुई। इस डील के तहत भारत में लगभग 6 लाख AK 203 राइफल बनाई जाएंगी। इस डील पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोयगू ने साइन किए। इस अवसर पर राजनाथ सिंह ने कहा कि हाल के वर्षों में भारत और रूस के बीच रक्षा अनुबंध अभूतपूर्व तरीके से आगे बढ़े हैं। 

रूसी समकक्षों के साथ हुई 2+2 वार्ता 

राजनाथ सिंह ने उम्मीद जताई कि रूस चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में हमेशा की तरह भारत का मुख्य सहयोगी बना रहेगा। इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर और रक्षा मंत्री की अपने रूसी समकक्षों सर्गेई लावरोव एवं सर्गेई शोयगू के साथ 2+2 वार्ता हुई। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी नई दिल्ली पहुंचने वाले हैं। माना जा रहा है कि पुतिन एयर डिफेंस मिसाइल एस 400 का एक मॉडल भारत को सौपेंगे।

बैठक में अफगानिस्तान संकट पर भी बात 

रूसी शिष्टमंडल के साथ वार्ता में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि अफगानिस्तान की स्थिति का मध्य एशिया समेत इस पूरे इलाके में असर पड़ेगा। समुद्री सुरक्षा चिंता का एक दूसरा पहलू है। उन्होंने कहा कि, 'आसियान एवं आसियान से संबंधित मंचों पर भारत और रूस साझा हित हैं।' शोयगू और रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव अपने भारतीय समकक्षों के साथ ‘ 2+2 वार्ता की शुरुआत करने के लिए रविवार रात दिल्ली पहुंचे थे। इस 2+2 वार्ता के बाद दिन में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ होने वाले शिखर सम्मेलन में दोनों मंत्री राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ शामिल होंगे।

राजनाथ सिंह ने उठाया चीनी अतिक्रमण का मुद्दा

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता (2+2 Ministerial Dialogue) के दौरान चीनी अतिक्रमण का मुद्दा उठाया है। दरअसल, वर्ष 2020 में चीन की गुस्ताखी के बाद भारत और पड़ोसी देश के रिश्तों की तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है।  यह कहना गलत नहीं होगा कि दोनों मुल्कों के बीच शक और अदावत की खाई गहराती जा रही है। 

ओमीक्रॉन संक्रमण हो रहा तो बूस्टर डोज पर जल्दी विचार करे केंद्र सरकार: अजित पवार

जापान के प्रधानमंत्री ने रक्षा मुद्रा को मजबूत करने का आह्वान किया

'हमारे जवानों को कोई हल्के में नहीं ले', BSF स्थापना दिवस कार्यक्रम में बोले अमित शाह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -