रक्षा मंत्री आज लद्दाख के दौरे पर, येचुरी श्रीनगर के लिए रवाना

श्रीनगरः केंद्र सरकार द्वारा पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से धारा 370 समाप्त करने के बाद राज्य लगातार खबरों में है। कल यानि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मुद्दे पर सुनवाई करते हुए काफी अहम फैसले सुनाए। केंद्रीय रक्षा मंत्री धारा 370 हटने के बाद पहली दफा लद्दाख पहुंचे हैं। वहां उन्होंने 26 वें किसान-जवान- विज्ञान मेले का उद्घाटन किया। उधर कोर्ट द्वारा हरी झंडी मिलने के बाद सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी श्रीनगर के लिए रवाना हो चुके हैं। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने येचुरी को इजाजत देते हुए उन्हें हिदायत भी दी कि वह अपने दौरे का इस्तेमाल राजनीतिक उद्देश्य के लिए न करें।

सीपीएम नेता येचुरी गुरूवार को कश्मीर दौरे पर जाएंगे और अपनी पार्टी के सहयोगी और पूर्व विधायक मोहम्मद यूसुफ तारिगामी से मिलेंगे और उनकी सेहत का हाल मालूम करेंगे। तारिगामी फिलहाल अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही नजरबंद हैं। येचुरी दो बार कश्मीर जाने की कोशिश कर चुके हैं। दोनों बार ही येचुरी को श्रीनगर एयरपोर्ट से ही लौटा दिया गया था। एक दौरे में भाकपा के महासचिव डी राजा और उनका प्रतिनिधिमंडल भी साथ था।

शीर्ष अदालत ने बुधवार को जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के एक कानून के छात्र को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में अपने माता-पिता से मिलने के लिए जाने की इजाजत दे दी। साथ ही कोर्ट ने पुलिस को छात्र को सुरक्षा मुहैया कराने का भी निर्देश दिया। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने छात्र मोहम्मद अलीम सैयद को माता-पिता से मिलकर आने के बाद एक हलफनामा भी देने को कहा।

पीठ ने वरिष्ठ वकील संजय हेगडे़ से कहा, अगर जामिया का छात्र अनंतनाग जाना चाहता है तो उसे कोर्ट का आदेश एक घंटे के अंदर मुहैया कराएं। बता दें कि बुधवार देर रात जम्मू संभाग के पांच जिलों किश्तवाड़, रामबन, डोडा, राजौरी और पुंछ में मोबाइल कालिंग पर लगाई गई रोक हटा ली गई। इस तरह संभाग के दस जिलों में मोबाईल सेवा बहाल हो गई है।

सीएम येदियुरप्पा का बड़ा बयान, कहा- बंद नहीं की जाएगी इंदिरा कैंटीन, लेकिन कुछ शिकायतें...

कश्मीर मुद्दे पर मुस्लिम संगठनों ने की बैठक, केंद्र सरकार से की यह मांग

वर्दी में IPS अफसर ने छुए ममता बनर्जी के पैर, वीडियो वायरल होते ही चढ़ा सियासी पारा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -