सैनिकों से बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह- 'नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही वन रैंक, वन पेंशन की मांग को पूरा किया'

लद्दाख के कई स्थानों से सैनिकों को पीछे हटाने के अगले चरण को लेकर चीन से जारी गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज यानी रविवार को केंद्रशासित प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे। वहीं इस दौरान वह लेह में पूर्व सैनिकों से मिले और उऩ्होंने कहा कि, ''हमारी सेना के जवानों, पूर्व सैनिकों के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल में कितना सम्मान है ये बताने की जरूरत नहीं है। 30-40 वर्षों से वन रैंक, वन पेंशन की समस्या चली आ रही थी। नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही वन रैंक, वन पेंशन की मांग को पूरा किया।''

इसी के साथ राजनाथ ने यह भी कहा कि, ''सेवा के बाद पुनर्वास की समस्या भी बनी रहती है। इसके साथ ही पुनर्वास महानिदेशालय द्वारा समय-समय पर रोजगार मेलों का भी आयोजन किया जाता है, जिसमें बड़ी संख्या में पूर्व सैनिकों को रोजगार दिया जाता है। हम इस काम में तेजी लाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारा उद्देश्य है कि आप सभी का उसी तरह ध्यान रखा जाए जिस तरह आप सभी ने देश की सुरक्षा का ध्यान रखा है। इसके बावजूद अगर आप लोगों को कहीं कोई दिक्कत है तो उसके लिए हेल्पलाइन की भी व्यवस्था की गई है।''

आपको बता दें कि जाने से पहले राजनाथ सिंह ने एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा था, ''नई दिल्ली से लद्दाख के लिए रवाना हो रहा हूं। अपनी यात्रा के दौरान, मैं सैनिकों के साथ बातचीत करूंगा और सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित कई बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के उद्घाटन समारोह में भाग लूंगा।'' आपको हम यह भी बता दें कि राजनाथ सिंह लद्दाख के दौरे पर सैन्य अभियानों की तैयारियों का जायजा लेंगे। आपको पता हो तो दो दिनों पहले ही पिछले साल मई से जारी तनाव को दूर करने के लिए भारत व चीन के राजनयिकों के बीच ताजे दौर की वार्ता हुई है।

शर्मशार! सौतेले बाप ने पति बनकर बेटी के साथ किया गलत काम, गुस्साई लड़की ने उतारा मौत के घाट

मन की बात में बोले PM मोदी- 'वैक्सीन नहीं लेना बहुत खतरनाक हो सकता है'

बड़ी बहन को छेड़ रहे थे मनचले, छोटी बहन ने आते ही किया ऐसा काम की लोग हो गए हैरान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -