परमाणु हथियार के पहले उपयोग नहीं करने पर रक्षा मंत्री का विवादित बयान

नई दिल्ली - पाकिस्तान के साथ चल रहे तनाव पूर्ण संबधों के बीच रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा भारत को परमाणु हथियारों के पहले इस्तेमाल नहीं करने संबंधी नीति से मुक्त रखने सम्बन्धी निजी बयान दिए जाने के बाद बवाल मच गया है.

गौरतलब है कि एक पुस्तक के लोकार्पण समारोह में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि ‘देश में बहुत सारे लोग पहले परमाणु हथियार इस्तेमाल नहीं करने संबंधी नीति के बारे में कहते हैं लेकिन मुझे इस मामले में अपने आपको क्यों बांधना चाहिए? मैं तो कहता हूं कि हम एक जिम्मेदार परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र हैं और मैं इसका गैर जिम्मेदाराना ढंग से इस्तेमाल नहीं करुंगा. ये मेरी सोच है.’ पर्रिकर ने जोर देकर कहा कि उनके इस बयान से ये मतलब नहीं निकालना चाहिए कि सरकार ने अपनी परमाणु नीति बदल दी है. हालाँकि पर्रिकर ने कहा कि ये उनकी निजी राय है.

जबकि रक्षा मंत्री के इस बयान की कांग्रेस ने ट्वीट कर के निंदा की है. इस मामले में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि इस बयान को रक्षा मंत्री के आधिकारिक के बजाय निजी राय के रूप में देखा जाना चाहिए. दिलचस्प बात यह है कि इसीआयोजन में खुद रक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ चैनल कल यह फ्लैश चलाने लगें कि भारत की परमाणु नीति बदल गई लेकिन ऐसा नहीं है.

विरोधियों को नहीं पच रहा मोदी राज का...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -