आईएसआईएस में शामिल ब्रिटिश नागरिकों का होगा सफाया

Dec 07 2017 02:59 PM
आईएसआईएस में शामिल ब्रिटिश नागरिकों का होगा सफाया

लंदन। इस्लामिक स्टेट आॅफ इराक में शामिल हुए और उनके लिए लड़ रहे ब्रिटिश नागरिकों की खोज करने की मांग की गई है। यह मांग ब्रिटेन के रक्षामंत्री गोविन विलियम्सन ने की है। उन्हें कदाचार के आरोप से घिरे माइकल फैलन द्वारा रक्षामंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद रक्षामंत्रालय सौंपा गया है। उन्होंने अपना बयान एक साक्षात्कार के दौरान ऐसे समय दिया है,जब ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे की हत्या की साजिश रचने के आरोप में, दो लोगों को पकड़ा गया है।

आतंकवाद को लेकर, नवनियुक्त रक्षामंत्री विलियम्सन ने कहा है कि, जो लोग आईएसआईएस में शामिल हैं, उन्हें मार दिया जाना चाहिए। उन्होंने ब्रिटेन की सुरक्षा को लेकर कहा कि, जो आईएसआईएस में शामिल हो गए हैं उन्हें फिर, वापस ब्रिटेन आने की अनुमति नहीं मिलना चाहिए। उनका कहना था कि, सरकार को जो जानकारी है, उसके अनुसार वे अनुमानित तौर पर बता सकते हैं कि, लगभग 800 ब्रिटिश नागरिक इराक और सीरिया में युद्ध के लिए गए थे।

इन लोगों के पास ब्रिटेन का पासपोर्ट था। मगर इन में से लगभग 130 लोग मारे गए थे। कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अब वापस लौट रहे हैं, ऐसे लोगों की तादाद लगभग 400 है तो दूसरी ओर करीब 270 लोग पश्चिम एशिया में मौजूद हैं। इन लोगों को लेकर, सरकार गंभीर है।

विलियम्सन का कहना था कि, कोई भी मृत आतंकी ब्रिटेन को नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। आतंकवाद के बढ़ते खतरे का सामना करने के लिए, हमें वह सब करना होगा जो कि, संभव है या फिर, जो प्रयास हम कर सकते हैं, वे किए जाने चाहिए। उनका कहना था कि, आतंकियों के बिखराब और फैलाव को रोकना होगा। यह एक बड़ी चुनौती है।

गौरतलब है कि, ब्रिटिश नागरिक मोहम्मद एमवाजी जिसे लोग जिहादी जाॅन के नाम से जानते हैं, वह आईएसआईएस में शामिल हो गया था और, लोगों के सिर कलम करने के कई वीडियोज़ को लेकर चर्चाओं में रहा है। इसी तरह कई अन्य ब्रिटिश नागरिक आईएसआईएस में शामिल हो चुके हैं।

येरूशलम को लेकर बढ़ सकते हैं आईएसआईएस के हमले

ब्रिटेन में आतंकी हमले की साजिश नाकाम

लम्बे अर्से बाद लश्कर के 8 आतंकवादियों को मिली सजा

 

 

 

 

 

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Popular Stories