जब कोई ऑप्शन नहीं बचा, तो 'योद्धा' बनना ही पड़ा.., आयरलैंड के खिलाफ शतक ठोंक बोले हुड्डा

नई दिल्ली: टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज दीपक हुड्डा ने मंगलवार को आयरलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले में धमाकेदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 57 गेंदों में 104 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। इसके साथ ही खेल के सबसे छोटे प्रारूप में तीसरे नंबर पर बैटिंग करते हुए शतक जड़ने वाले हुड्डा सिर्फ चौथे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं।

दीपक हुड्डा का कहना है कि जब उन्हें गेंदबाजों के अनुकूल हालात में नई गेंद का सामना करने का जिम्मा सौंपा गया, तो उन्होंने ‘योद्धा’ की तरह रवैया अपनाया। हुड्डा के मुताबिक, उनके पास टॉप आर्डर में बैटिंग करने की चुनौती का सामना करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था। हुड्डा ने मुकाबले के बाद कहा कि, ‘मैंने कभी अंतरराष्ट्रीय मैच में पारी की शुरुआत नहीं की, मगर शीर्ष क्रम का बल्लेबाज होने के चलते आपको चुनौतियों का सामना करना होता है और आपके पास कोई और विकल्प नहीं होता।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘और यदि आपके पास कोई विकल्प नहीं है तो फिर आप योद्धा जैसा रवैया क्यों नहीं अपनाते। मैं ऐसे ही सोचता हूं और चीजें मेरे पक्ष में रहीं। मैं इसे लेकर खुश हूं।’ युवा खिलाड़ी लगातार सामने आ रहे हैं और इस ऑलराउंडर ने स्वीकार किया कि टीम इंडिया में जगह बनाना और फिर उसे कायम रखना आसान नहीं है।

मोईन अली ने पढ़ा 'विराट' का दिमाग, जानिए वे कोहली के बारे में क्या समझे ?

दीपक हूडा को मिला बेहतरीन प्रदर्शन का इनाम, T20 रैंकिंग में लगाई जबरदस्त छलांग

कन्हैया लाल हत्याकांड पर इस मशहूर मुस्लिम क्रिकेटर ने किया चौकाने वाला ट्वीट

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -