नोबेल लिटरेचर प्राइज पर संशय ख़त्म होगा आज

अकैडमी 2018 के नोबेल लिटरेचर प्राइज को लेकर संशय आज ख़त्म हो सकता है. स्वीडिश अकैडमी प्रशासकीय निदेशक लुई हेडबर्ग ने स्वीडिश रेडियो को बताया कि नोबेल लिटरेचर प्राइज को स्थगित करने को लेकर कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं होगी लेकिन मीडिया को स्टेटमेंट भेजा जाएगा. उन्होंने कहा कि अकैडमी के सदस्यों की मीटिंग के बाद यथाशीघ्र प्रेस रिलीज जारी की जाएगी. नोबेल लिटरेचर प्राइज पर असमंजस इसलिए बना क्योकि एक सदस्य के पति पर रेप और यौन शोषण केआरोप के बाद अकैडमी विवादो में घिर गई थी.

#MeToo कैंपेन से प्रभावित होकर नवंबर में 18 महिलाओं ने आरोप लगाया था कि अकैडमी की सदस्य कैटरीना फ्रॉसटेंशन के फ्रेंच पति क्लॉउड अर्नाल्ट ने उनका यौन शोषण किया था. अर्नाल्ट ने इन आरोपों से साफ इनकार किया है. महिलाओं के मीडिया में सामने आने के बाद अकैडमी ने उनके फोरम से सभी संबंध खत्म कर लिए.जिसके बाद अकैडमी भी दो खेमों में बंट गई और विवाद बढ़ता गया.

अकैडमी की स्थापना 1786 में हुई थी और 1901 से इसने नोबेल लिटरेचर प्राइज देना शुरू किया था.तब से सात बार 1914, 1918, 1935, 1940, 1941, 1942 और 1943 में प्राइज को स्थगित किया है. 

प्रधानमंत्री की पत्नी को कहा 'डिलिशियस', भड़के लोग

जापान: 64 लोग 2 घंटे तक उल्टे लटके

कैंब्रिज एनालिटिका ने की शट डाउन की घोषणा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -