राम मंदिर मसले को लेकर ओवैसी से सहमत हुए सुब्रमण्यम स्वामी

राम मंदिर मसले को लेकर ओवैसी से सहमत हुए सुब्रमण्यम स्वामी

नई दिल्ली : राम मंदिर मसले को लेकर एक टीवी चैनल पर एक बड़ी बहस की गई. भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की वह सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मसले पर रोजाना सुनवाई के लिए अपील करेंगे. जब एआईएमआईएम चीफ असदउद्दीन ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मसले को लेकर के रोजाना सुनवाई का सुझाव दिया तो स्वामी ने इसपर सहमति जताई.

साथ ही साथ स्वामी का कहना है की कोर्ट में राम मंदिर केस हम ही जीतेंगे और मोदी राज में ही मंदिर का निर्माण होगा. बहस के दौरान स्वामी ने दावा किया कि साल के अंत में राम मंदिर निर्माण कार्य प्रारम्भ हो सकता है. साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि अयोध्या में विवादित स्थल पर मंदिर के निर्माण का पथ सुप्रीम कोर्ट के अंतिम फैसले से प्रशस्त होगा. जब ओवैसी ने देश की इकोनॉमी पर सवाल खड़ा किया तो स्वामी का कहना था की देश का हर गरीब से गरीब नागरिक अयोध्या में राम मंदिर बनाना चाहता है.

वही सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट करते हुए कहा की हम हिन्दू, मुस्लिमों को भगवान कृष्ण का पैकेज दे रहे हैं. हमको तीन मंदिर दो और बदले में 39997 मस्जिद रख लो. मुझे उम्मीद है कि मुस्लिम नेता दुर्योधन नहीं बनेंगे.

स्वामी ने महाभारत का हवाला देते हुए कहा की भगवान कृष्ण ने शांति बनाए रखने और युद्ध को टालने के लिए प्रस्ताव दिया था कि यदि हस्तिनापुर पांडवों को 5 गांव भी दे देगा तो वे संतुष्ट हो जाएंगे और कोई अन्य मांग नहीं रखेंगे. कौरव युवराज दुर्योधन ने इस प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा था कि वह पांडवों को सुई की नोंक के बराबर भी जगह देने के पक्ष में नहीं है.