उधमसिंह ने लंदन जाकर लिया था 'जलियांवाला बाग़ हत्याकांड' का बदला, 20 साल बाद पूरी की प्रतिज्ञा

आज महान क्रांतिकारी उधम सिंह का शहादत दिवस है। उधम सिंह को 31 जुलाई 1940 को उन्हें पेंटनविले जेल में फांसी दे दी गई थी। भारत के इस वीर सपूत ने जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लेने की आग को 20 सालों तक अपने अंदर जिन्दा रखा और फायरिंग का आदेश देने वाले पंजाब के तत्कालीन गवर्नर जनरल माइकल फ्रांसिस ओ' डायर ( Michael Francis O'Dwyer) को लंदन जाकर मौत के घाट उतार दिया, लेकिन इसके बाद उधमसिंघ वहां से भागे नहीं और अपनी गिरफ्तारी दी। 

बता दें कि उधमसिंह का बचपन का नाम शेर सिंह था और उनके भाई का नाम मुक्तासिंह था, किन्तु जब उन्हें अनाथालय में रहना पड़ा तो उनका और उनके भाई का नाम, उधमसिंह और साधुसिंह रख दिया गया। मगर उधमसिंह अपने नाम से संतुष्ट नहीं थे इसलिए उन्होंने देश में सर्वधर्म समभाव का संदेश देने के लिए अपना नाम बदलकर राम मोहम्मद सिंह आजाद रख लिया था, जो भारत के तीन प्रमुख धर्मों हिन्दू, मुस्लिम, सिख और उनके एकमात्र लक्ष्य आजादी का प्रत्येक था।  इतिहास के पन्नों को पलटें तो 13 अप्रैल, 1919 भारत की धरती पर  जो घटित हुआ, वो कभी न भूलने वाला जख्म है। इसी दिन अमृतसर के जलियांवाला बाग में रोलेट Act के विरोध में हजारों लोग इकठ्ठा हुए थे और अंग्रेज अफसर जनरल डायर ने इस बाग के मुख्य द्वार को अपने सैनिकों और हथियारंबद वाहनों से रोककर निहत्थी भीड़ पर बगैर किसी चेतावनी के 10 मिनट तक अंधाधुंध गोलियां चलवाई थी।

बताया जाता है कि इस घटना में लगभग 1000 लोगों की मौत हो गई थी और 1500 से अधिक घायल हुए थे। इतिहासकारों का कहना है कि जब ये घटना हुई तो वहां जनरल डायर मौके पर उपस्थित थे। मगर लोगों पर फायरिंग करने का निर्देश पंजाब के तत्कालीन गर्वनर जनरल माइकल फ्रांसिस ओ 'डायर ने दिया था। इसी ओ 'डायर की क्रांतिकारी उधम सिंह ने लंदन के कैक्सटन हॉल में 13 मार्च, 1940 को गोली मारकर हत्या कर दी थी। जबकि फायरिंग करने और करवाने वाले डायर की मौत आर्टेरिओस्क्लेरोसिस (धमनियों की बीमारी) और सेरेब्रल हैमरेज की वजह से 1927 में हो गई थी।

 राहुल गांधी ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक, दो दिन से नहीं आ रहे संसद

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर आई अच्छी खबर, जानिए क्या है आज का भाव

खजुराहो में पूरा हुआ 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन, CM शिवराज ने जताई खुशी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -