इस प्लांट के बाहर मिला शव, ​नहीं पता चला मौत का कारण

Jul 02 2020 04:50 PM
इस प्लांट के बाहर मिला शव, ​नहीं पता चला मौत का कारण

सूबा सरकार की तरफ से थर्मल प्लांट को बठिंडा की शान माना जाता है. लेकिन  थर्मल प्लांट का पुडा के हवाले किए जाने का विरोध प्रारंभ हो गया है. जिसके तहत  एक किसान अलसुबह गांव चीमा जिला संगरूर में थर्मल प्लांट के सामने पहुंचा कुछ देर बाद ही किसान जोगिंदर सिंह का थर्मल गेट के आगे शव मिला. शव के पास से मिली एक तख्ती पर श्री गुरुनानक देव की फोटो तले लिखा हुआ है कि थर्मल बेचने के विरोध में मैं करता हूं अपनी जिंद कुर्बान.

109 जोड़ी प्राइवेट ट्रेनों की घोषणा पर राहुल गांधी का हमला, बोले- करारा जवाब मिलेगा

अपने बयान में मृतक के बेटे कुलविंदर सिंह ने बताया कि पिता की मौत के असल कारण पता नहीं चला है. उनकी मौत की वजह का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद होगा. वहीं, भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहा के नेता शिंगारा सिंह मान अपनी जत्थेबंदी के सदस्य के शव पास से मिली तख्ती पर लिखे शब्दों को पढ़कर खुदकुशी किए जाने का दावा कर रहे हैं. मृतक किसान के बेटे कुलविंदर सिंह ने फोन पर बताया कि उसके पिता जोगिंदर सिंह चार एकड़ जमीन के मालिक थे. वह भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहा के साथ जुडे़ थे.

भारी बारिश के चलते धंसी खदान, मलबे में दबकर 113 लोगों की दर्दनाक मौत

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मंगलवार को यूनियन के साथ उसके पिता धरना में शामिल हुए थे. ​बुधवार की अलसुबह उसे बठिंडा पुलिस से जानकारी मिली कि उसके पिता का शव थर्मल गेट के समीप बरामद हुआ है. उसने बताया कि उसके पिता कई बार घर में भी उससे बात करते थे कि श्री गुरु नानक देव के नाम पर बने थर्मल प्लांट को सरकार ने पुडा के हवाले कर बठिंडा की शान को खत्म करने के साथ गुरु के नाम को भी ठेस पहुंचाई है. कुलविंदर सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले वह कुछ नहीं कह सकता है.

मास्क पहनने के लिए कहा तो पुलिस वाले को पीटा, तीन युवक गिरफ्तार

टिक टॉक बैन के बाद इस देसी ऐप को हुआ सबसे ज्यादा फयादा, मिली दो करोड़ की फंडिंग

कोरोना: कर्नाटक में बेड की किल्लत, कुमारस्वामी बोले- तीन महीने से सीएम ने केवल समय बर्बाद किया