एक भी टेस्ट की मेजबानी नही मिलने से नाराज DDCA

नई दिल्ली : भारत इस साल 13 टेस्ट मैचों की मेजबानी करने जा रहा है लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम को एक भी मैच कि मेजबानी नही मिली जिससे कि पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज और डीडीसीए उपाध्यक्ष चेतन चौहान खफा है.

चेतन कुमार ने कहा कि अगर आप हमें दो नही तो काम से काम एक टेस्ट मैच कि मेजबानी तो सौंप सकते थे लेकिन ऐसा नही किया गया है. भारत एक लंबे सत्र की मेजबानी करने जा रहा है और दिल्ली स्थायी टेस्ट केंद्रों में से एक है. मुझे लगता है कि 50 साल से अधिक से टेस्ट मैचों की मेजबानी कर रहे स्थलों (जैसे दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता) को प्रत्येक सत्र में टेस्ट की मेजबानी मिलनी चाहिए.

आपको बता दे की टेस्ट मैच की मेजबानी को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड रोटेशन प्रोसेस का पालन करता है लेकिन दिल्ली क्रिकेट एशोसिएशन का मानना है की बीसीसीआई इसका कड़ाई से पालन नही करता है. वही पिछले साल फिरोजशाह कोटला में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेला गया था. हालांकि कोटला मैदान को अगले महीने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे मैच की मेजबानी सौंपी गई है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -