हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है दिन में सोना, जानें फायदे

हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है दिन में सोना, जानें फायदे

बहुत से लोगों को दिन में सोना पसंद होता है. सोना जैसे उनकी हॉबी हो जाती है. कई लोग कहते हैं कि दिन में नहीं सोन चाहिए. पर हम आपको एक खुशखबरी देने जा रहे हैं. हार्ट नाम के जर्नल में प्रकाशित एक नई स्टडी में यह बात सामने आयी है कि वैसे लोग जो दिन के समय झपकी लेते हैं या सो जाते हैं उन्हें हार्ट अटैक आने का खतरा कम हो जाता है। यानि दिन में सोना कोई बुरा नहीं है, हालाँकि हफ्ते में 2 बार आप सो सकते हैं जिसमें कोई बुराई नहीं है. 

दरअसल, स्विट्जरलैंड के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ऑफ लॉसेन की रिसर्च टीम ने एक स्टडी की और वे इस नतीजे पर पहुंचे कि वैसे लोग जो हफ्ते में एक या दो बार दिन के समय सोते हैं उनमें हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है उन लोगों की तुलना में जो दिन में बिलकुल नहीं सोते। यानि स्वस्थ रहने के लिए आराम करना बेहद जरुरी है. 

48% कम होता है बीमारी का खतरा 
स्टडी में ये भी पता चला है कि वे लोग जिन्होंने हफ्ते में एक या दो बार दिन के समय झपकी ली या सोए उनमें हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हार्ट फेलियर का खतरा 48 प्रतिशत तक कम हो गया उन लोगों की तुलना में जो दिन के समय पूरे हफ्ते बिलकुल नहीं सोए।  

इस स्टडी के लिए अनुसंधानकर्ताओं ने 35 से 75 साल के बीच के 3 हजार 462 स्विस अडल्ट्स की गतिविधियों को करीब 5 साल तक ट्रैक किया। जब यह स्टडी शुरू हुई उस वक्त स्टडी में शामिल करीब 58 प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा कि उछन्होंने पिछले सप्ताह दिन के समय झपकी नहीं ली थी जबकी 19 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने एक या दो बार झपकी ली। करीब 12 प्रतिशत ने 3 से 5 बार और 11 प्रतिशत ने 6 से 7 बार झपकी ली।

दिन के समय सिर्फ 20 मिनट की झपकी है काफी
हालांकि स्टडी के लीड ऑथर की मानें तो दिन में झपकी लेना दिन के लिए इसलिए अच्छा माना जा सकता है क्योंकि नींद पूरी न होने पर जो स्ट्रेस का लेवल बढ़ता जाता है वह दिन में झपकी लेने से कम हो जाता है। हालांकि कितनी देर तक सोना है या झपकी लेनी है इस बारे में इस स्टडी में कुछ भी नहीं कहा गया है। लेकिन नैशनल स्लीप फाउंडेशन की मानें तो दिन के वक्त 20 मिनट की झपकी काफी है.

डॉक्टर्स ने खोजी अल्झाइमर के लिए नई दवा, देगी आराम

ड्राई हो रही स्किन तो आयुर्वेदिक नुस्खे करेंगे दूर