दाऊद इब्राहिम की लोकेशन गुप्त नहीं, पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को बना रहा मूर्ख: : विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली: एक दिन पहले अमेरिकी फ़ेडरल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (एफबीआई) ने लंदन की एक अदालत को कहा कि भारत का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में था। इस पर भारत ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भगोड़े गैंगस्टर की लोकेशन कभी भी गुप्त नहीं थी। भारत ने गुरुवार को कहा कि इस मामले पर एफबीआई की रिपोर्ट में, पाकिस्तान के दोहरे चेहरों और वंहा से निकलने वाले आतंक के खिलाफ कार्रवाई करने में असमर्थता का पता चलता है।

विदेश मंत्रालय ने आज कहा कि दाऊद इब्राहिम का स्थान कोई गुप्त नहीं है और भारत ने पाकिस्तान को कई बार उसे सौंपने के लिए कहा है। नई दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए, मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जब भारत ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करता है, तो या तो पाकिस्तान अनदेखी करता है या इनकार मोड में चला जाता है।

इस्लामाबाद के दृष्टिकोण को 'दोयम दर्जे' का एक क्लासिक मामला करार देते हुए कुमार ने कहा कि पाकिस्तान यह दावा करने में बेनकाब है कि उन्होंने उसकी मिट्टी से संचालित होने वाले आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई की है। मंगलवार को दाऊद के करीबी विश्वासपात्र जाबिर मोतीवाला के प्रत्यर्पण की मांग करते हुए एफबीआई ने लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट को बताया कि दाऊद पाकिस्तान में है और अमेरिका के खिलाफ गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।

दाऊद 1993 में मुंबई में हुए विस्फोटों से संबंधित मामलों में भारत में वांटेड है। हालांकि पाकिस्तान विदेश कार्यालय ने इस बात का खंडन किया है कि दाऊद पाकिस्तान में है। एफबीआई की रिपोर्ट्स आने के बाद गुरुवार को, पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने कहा, "दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में नहीं है।"

दिल्ली मेट्रो : महिलाओं के बाद, अब बुजुर्गों और छात्रों को भी मिलेगी ये सौगात

कैंसर को लेकर फिर छलका सोनाली का दर्द, ऐसे लिखी दिल की बात

मलाइका-अर्जुन का हाथ पकड़े नजर आए ऋषि कपूर, न्यूयॉर्क में हुई ख़ास मुलाकात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -