दाउद के गुर्गे हांगकांग में बैठकर नेपाल के रास्ते चला रहे नशे के बाजार

काठमांडू : नेपाल पुलिस की जांच में यह खुलासा हुआ है कि नेपाल के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में कोकीन की तस्करी की जा रही है, जो कि डी गैंग द्वारा किया जा रहा है। हाल ही में नेपाली पुलिस ने तीन पाकिस्तानी नागरिकों को गिरफ्तार किया है, जिनके तार अंतर्राष्ट्रीय ड्रग बाजार से जुड़े है।

ये तीनों दाउद के करीबी बताए जा रहे है। नेपाल पुलिस ने कुछ पाकिस्तानी नागरिकों के तार नकली मुद्रा से लेकर सफेद और भूरे रंग वाले हेरोईन की तस्करी और एशिया से यूरोप में कोकीन की तस्करी में जोड़ने में सफलता पाई है। नेपाल के नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने तीन विदेशी नागरिकों और एक नेपाली नागरिक से दो किलो से ज्यादा कोकीन जब्त किया है।

इनकी कीमत 3.30 करोड़ रुपए से ज्यादा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि नेपाल में ड्रग के धंधे में कुछ प्रभावशाली ड्रग तस्करों का हाथ है। एनसीबी के प्रमुख और पुलिस उपमहानिरीक्षक जय बहादुर चंद ने बताया कि पकड़े गए तस्कर वेनेजुएला, भारत, नाइजीरिया और नेपाल के है।

इन सभी के तार हांगकांग से जुड़े थे, जिनकी मदद पाकिस्तानी नागरिकों ने की थी। इन पाकिसल्तानी नागरिकों की पहचान वाहिद खान, अब्दुल रजा और उसका भाई के रुप में हुई है। उसका भाई दाउद का बेहद करीबी है। भारत को 1993 बम ब्लास्ट के मामले में उसकी तलाश थी।

दाउद के करीबी मलेशिया और हांगकांग में बैठकर ड्रग तस्करी का धंधा चला रहे है। बुधवार को डीआईजी चंद ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोग भाड़ के थे, इन्हें इंटरनेशनल माफियाओं ने हायर किया था। वो यूरोपीय देशों में कोकीन सप्लाई करते है और काठमांडू को एक ठिकाने के रुप में इस्तेमाल करते है।

जब्त किया गया कोकीन काठमांडू से दुबई ले जाया जा रहा था, जिसे एक वेनेजुएला की महिला नारवेज 24 अप्रैल को ले जा रही थी। नारवेज को कैथरीन नाम की महिला ने इस काम के लिए 1500 डॉलर दिए थे। अन्य संदिग्ध जिसमें से एक चीन से और दूसरा पाकिस्तान से है, फरार है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -