जलवायु परिवर्तन पर चर्चा करने दावोस पहुंचे विश्व के कई बड़े नेता

दावोस : शहर में चल रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में दुनियाभर से राजनेता और बिजनेस लीडर्स पहुंच रहे हैं। एक तरफ ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर और पर्यावरणविद  ने सभी नेताओं से जलवायु परिवर्तन पर तुरंत एक्शन प्लान बनाने की बात कही है। वहीं, इस बार दावोस में सम्मेलन में हिस्सा लेने विश्व के नेता 1500 रिकॉर्ड विमानों से पहुंच रहे हैं। एयर चार्टर सर्विस के अनुसार, पिछले साल की तुलना में इस बार दावोस सम्मेलन में प्राइवेट जेट की संख्या में 11% बढ़ी है। 

पुलवामा हमला: चीन ने भरपूर डाले अड़ंगे, फिर भी एक हफ्ते बाद आ ही गया UNSC का बयान

ऐसा होगा एयरक्राफ्ट सम्मलेन  

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार स्वीडन की 16 साल की एक्टीविस्ट ग्रेटा थॉनबर्ग भी दावोस पहुंचीं। उन्होंने कहा कि अमीर देशों के नेता भविष्य की पीढ़ियों और गरीब देशों से उनका ईंधन छीन रहे हैं। एसीएस में प्राइवेट जेट डायरेक्टर का कहना है कि नेताओं और बिजनेसमैनों बड़े एयरक्राफ्ट लाने का ट्रेंड बढ़ा है। इसकी एक वजह लंबी दूरी की यात्रा हो सकती है लेकिन यह भी संभव है कि कोई बिजनेसमैन अपने प्रतिद्वंद्वी से कमतर नहीं दिखना चाहता। 

नहीं काम आया हाफिज के संगठन बैन करने का पैंतरा, ग्रे लिस्ट में ही रहेगा पाक

यह देश हो सकते है शामिल 

जानकारी के लिए बता दें पिछले साल सम्मेलन में 1300 एयरक्राफ्ट पहुंचे थे। 2013 के बाद से यह संख्या सबसे ज्यादा थी। बता दें एसीएस के अनुसार पिछले 5 सालों में जिन पांच देशों के सबसे ज्यादा विमान आए, उनमें जर्मनी, फ्रांस, यूके, अमेरिका, रूस और संयुक्त अरब अमीरात यानि यूएई प्रमुख हैं। ब्ल्यूईएफ की बैठक से पहले पिछले हफ्ते ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसमें साफतौर पर कहा गया कि दुनिया में जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए कोई खास प्रयास नहीं किए जा रहे।

पाकिस्तान दौरे पर गए थे सऊदी के शहजादे, उपहार में मिली सोने का पानी चढ़ी राइफल और...

अमेरिकी रिपोर्ट का दावा, भारत के लोकसभा चुनाव में होगा इतना खर्च, जितना किसी देश में नहीं हुआ

हाफिज सईद के संगठन पर बैन, अंतर्राष्ट्रीय दबाव के कारण पाक की कार्यवाही या फिर ढकोसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -