हैडली का बड़ा बयान : लश्कर की आतंकी थी इशरत जहां

Feb 11 2016 11:41 AM
हैडली का बड़ा बयान : लश्कर की आतंकी थी इशरत जहां

मुंबई : मुंबई में 26/11 को हुए आतंकी हमले को लेकर अहम जानकारी देने वाले गवाह बने साजिशकर्ता डेविड हैडली ने गुजरात में वर्ष 2004 में हुए इशरत जहां एनकाउंटर मसले को लेकर महत्वपूर्ण जानकारी दी है। जिसमें उसने कहा है कि इशरत जहां लश्कर - ए - तैयबा की आतंकी थी। हेडली के इस तरह के बयान के बाद इस मामले में उन लोगों को और भी राहत मिली है जिन्हें इस मामले को फर्जी मुठभेड़ की तरह से अंजाम देने के लिए जिम्मेदार माना जाता है।

उल्लेखनीय है कि इस मामले में प्रधानमंत्री और गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही गुजरात के तत्कालीन कैबिनेट मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाए जाते रहे हैं। हालांकि दोनों को ही इस मामले में क्लीन चिट मिल चुकी है। मगर इस मामले से जुड़े कुछ पुलिस अधिकारी आज भी जेल की सलाखों के पीछे है।

दरअसल तत्कालीन डीजी वंजारा और अन्य अधिकारी सोहराबुद्दीन हत्याकांड समेत अन्य मामलों में जेल में हैं। इशरत जहां 15 जून वर्ष 2014 को अहमदाबाद में अपने अन्य साथियों के साथ मुठभेड़ में मारी गई थी। पुलिस का कहना था कि इशरत एक आत्मघाती आतंकी थी जो कि गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश रच रही थी।  

इशरत एक काॅलेज की छात्रा थी। दरअसल उसके परिवार में पिता की मृत्यु होने के बाद वह अकेली ही कमाने वाली थी। इशरत ने आतंकवाद का रास्ता अपना लिया था। इन लोगों के मारे जाने के बाद कथित दलों और मानवाधिकार संगठनों ने इस मुठभेड़ को फर्जी बताया और कहा कि इन लोगों को गोली मार दी गई जिसके बाद इनके हाथ में हथियार थमा दिए गए। ये आतंकी मुंबई से अहमदाबाद के लिए निकले थे।

डेविड हेडली के बयान के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया है। जो कि भाजपा के नेताओं को साफतौर पर गलत साबित होने से बचाता दिख रहा है। इस मामले में भाजपा ने मांग की है कि इशरत जहां को शहीद बताने वाले लोग माफी मांगें।