दौसा : गैंगरेप केस में भड़के लोग, सड़को पर किया जोरदार प्रदर्शन

शहर के मंडावरी थाना क्षेत्र में लगभग 2 हफ्ते पहले मूक बघिर बालिका से हुए गैंगरेप का केस निरंतर तूल पकड़ता जा रहा है. मामले को लेकर दौसा में कई स्थानों पर धरना और प्रदर्शनों का दौर जारी है. सोमवार को भीम आर्मी ने कलक्ट्रेट पर पड़ाव डाल दिया. वहीं लालसोट थाने के बाहर दोपहर बाद से धरना-प्रदर्शन किया गया. इससे लालसोट इलाका पूरी तरह अव्यवस्थित हो गया. आधी रात्रि को जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक की मध्यस्थता के पश्चात केस शांत हुआ. 

भाजपा-फेसबुक लिंक विवाद में कूदी शिवसेना, मोदी सरकार पर साधा निशाना

बता दे कि कई नेताओं ने लालसोट थाने के बाहर जिले के मुख्य मार्ग के मध्य में बैठकर पुलिस और प्रशासन के विरूध्द नारेबाजी की. इससे जिले की यातायात व्यवस्था पूरी तरह से अव्यवस्थित हो गई और वहां वाहनों की लंबी कतारें भी लग गई. प्रदर्शनकारियों ने गैंगरेप पीड़िता को सरकारी नौकरी, आर्थिक मुआवजा और फरार चल रहे अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग रखी. पुलिस और प्रशासन के अधिकारी जितेंद्र गोठवाल से समझाइश करते रहे, किन्तु वे नहीं माने और आईजी तथा दौसा कलक्टर को बुलाने की मांग पर अड़ गए. देर रात्रि केस पर गतिरोध बना रहा.

राहुल गाँधी पर जेपी नड्डा का बड़ा हमला, कहा- केवल फर्जी ख़बरें फैलाने पर आधारित है आपका करियर

इसके अलावा कलेक्टर पीयूष समारिया और पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल वहां पहुंचे और गोठवाल से मंत्रणा की. इस दौरान एसपी ने कहा कि गैंगरेप में फरार चल रहे एक नामजद आरोपी को पुलिस ने ​हिरासत में लिया है. अब तक सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं. हालांकि अभी तक पांच से छह अन्य आरोपी फरार हैं. एसपी ने शेष आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन दिया. इसके अलावा पीड़िता को नौकरी व आर्थिक मुआवजा के लिए गवर्नमेंट तक बात पहुंचाने का भरोसा दिया. प्रशासन से मिले आश्वासन के पश्चात लालसोट थाने के बाहर चल रहा धरना प्रदर्शन रात्रि लगभग 1 बजे खत्म हो गया.

शरद पूर्णिमा : चन्द्रमा की किरणों के मध्य क्यों रखी जाती है खीर, जानिए कारण ?

देश में मास्क से आज़ादी की मुहीम शुरू, युवाओं का 'मास्क' जलाते हुए वीडियो वायरल

शरद पूर्णिमा : प्रेम में सफलता, बेहतर स्वास्थ के लिए करें ये उपाय

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -