एक ऐसा पहलवान जिसने पहलवानी नहीं बल्कि एक्टिंग कर कमाया अपना नाम

ही-मैन की उपाधि से सम्मानित किए गए धर्मेंद्र ने अपने संघर्ष के उन समय को याद करते हुए बताया था कि वास्तविक ही-मैन तो दारा सिंह जी हैं, जिसके कारण ऑडियंस फिल्में देखने जाते थे। बात एकदम वाजिब है। कभी पर्दे पर दारा सिंह की जोर आजमाइश प्रशंसकों को बहुत लुभाती थी। साठ के दशक में एक दौर ऐसा भी था, जब मुंबई के आधे से अधिक थिएटरों में दारा सिंह की मूवीज तहलका मचाती थीं। दारा सिंह ने आज ही के दिन इस दुनिया को अलविदा कहा था। 

'किंगकांग', 'रूस्तम-ए-बगदाद', 'फौलाद', 'सैमसन', 'आया तूफान', 'हरक्यूलस', 'वीर भीमसेन', 'शेर दिल', 'बॉक्सर', 'राका', 'लुटेरा', 'सिकंदर-ए-आजम', 'सरदार', 'नसीहत', 'तूफान', 'थीफ ऑफ बगदाद', 'रूस्तम', 'बजरंग बली' आदि 150 से अधिक मूवीज में काम करनेवाले दारा सिंह के फिल्मों की लंबी फेहरिस्त है। इनमें एक्शन से लेकर पौराणिक तथा धार्मिक प्रत्येक प्रकार की फिल्में हैं। रास आए चरित्र किरदार दारा सिंह ने आयु के एक पड़ाव पर चरित्र किरदार भी खूब की। याद कीजिए मनमोहन देसाई की फिल्म 'मर्द' का एक सीन। घोड़ी पर सवार अमिताभ बच्चन शादी करने जा रहे हैं।

अचानक घोड़ी बिदक कर दौड़ जाती है। तब दारा सिंह बेटे बने बिग बी को अपने कंधे पर उठा लेते हैं। बतौर चरित्र एक्टर उन्होंने कई मूवीज में अपनी सशक्त पहचान बनाई थी, लेकिन उनकी वास्तविक पहचान थी पहलवान नायक की। पहलवानी के चलते ही उन्हें फिल्मों में काम मिलना आरम्भ हुआ था। 50 के दशक की मूवीज में उनकी कुश्ती कोे बहुत प्रचारित किया जाता था। 1954 में रूस्तम-ए-हिंद की उपाधि पाने के पश्चात् मानों उनकी पूरी दुनिया ही बदल गई। मूवीज में उन्हें कुश्ती के दांव खेलते बहुत दिखाया जाता था। 1962 में आई 'किंगकांग' ने तो उनकी किस्मत ही बदल दी थी।

वही एक अभिनेता से लेकर राज्यसभा सदस्य तक उन्होंने प्रत्येक जिम्मेदारी बखूबी निभाई। यही नहीं, सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (सिंटा) के अध्यक्ष के रूप में उनकी विनम्रता तथा मददगार व्यवहार को आज भी व्यक्ति याद करते हैं। छोटे से गांव से आए थे अमृतसर जिले के छोटे से गांंव धरमू चाक में 19 नवंबर 1928 को जन्मे दारा सिंह को बचपन से ही कसरत तथा कुश्ती में दिलचस्पी थी। इस मामले में उन्हें माता-पिता बलवंत कौर तथा सूरत सिंह रंधावा का भी पूरा प्रोत्साहन प्राप्त हुआ। जब उन्हें मूवी में पहली बार अभिनय का अवसर प्राप्त हुआ, तब उन्होंने मेकर से बताया था, ''मैंने आज तक कोई फिल्म नहीं देखी है, फिर अभिनय कैसे करूंगा।'' बहरहाल, पचास वर्ष के अपने करियर में उन्होंने कई सम्मान अर्जित किए। 

'धाकड़’ से सामने आया कंगना रनौत का लुक, देखकर बढ़ा फैंस का उत्साह

रिलीज हुआ अजय देवगन की फिल्म ‘भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया’ का पहला टीजर, इस दिन आएगा ट्रेलर

पति राज कौशल के जाने के बाद पहली बार दिखी मंदिरा बेदी, इस अंदाज में आई नजर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -