रामायण से पहले ही दारा सिंह बन चुके थे 'बजरंग बली'

रामायण में हनुमान का रोल निभाने वाले लीजेंड्री एक्टर दारा सिंह इस रोल को पहले भी निभा चुके थे। इसके साथ ही दारा सिंह के बेटे विंदु ने बताया कि उनके पिता को सबसे पहले हनुमान बनाने का काम 1976 में चंद्रकांत ने किया था। वहीं जिन्होंने दारा सिंह के साथ फिल्म बजरंग बली बनाई थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें की यह फिल्म ब्लॉकबस्टर रही और पिता को घर घर में पवन पुत्र हनुमान के नाम से पहचाना जाने लगा। 

सपने में दिखे थे मेरे पिताजी : बजरंग बली की रिलीज के 11 साल बाद रामानंद सागर ने रामायण टीवी शो बनाया। वहीं विंदु कहते हैं- पापाजी (रामानंद सागर) ने जब रामायण बनाना शुरू किया था तो दीपिका चिखलिया सीता के रोल के लिए पहली पसंद थीं। इसके साथ ही अरुण गोविल राम के लिए फर्स्ट चॉइस नहीं थे। वे किसी और रोल के लिए चुने गए थे परन्तु उन्होंने कहा कि वे केवल राम का ही रोल करना चाहते हैं। वहीं एक रात पापाजी को सपने में मेरे पिता हनुमान के रूप में दिखाई दिए। मेरे पिताजी के पास जब यह रोल आया तो उनके पास इसे करने के अलावा कोई ऑप्शन नहीं था, क्योंकि पापाजी को कोई मना नहीं करता था।

रामायण के बाद महाभारत में भी थे दारा सिंह : विंदु बताते हैं- उस वक्त मेरे पिता जी की उम्र 60 साल थी। और सालों रेसलिंग करने के बाद उनके घुटने और कंधे परेशानी देने लगे थे। रामानंद सागर जी ने ही उन्हें रोल के लिए मनाया। फिलहाल वे हनुमानजी के रोल के लिए पूरी तरह फिट थे। वहीं रामायण ने ही दारा सिंह को हनुमान जी का चेहरा बना दिया था। रामायण के फिर से टेलीकास्ट होने पर विंदु खुश हैं।वहीं  उन्होंने बताया कि रामायण ने ही सागर्स को वापस लाने का काम किया था। इसके साथ ही मेरे पिता ने इसके बाद सिर्फ एक बार और बीआर चोपड़ा की महाभारत में हनुमान का रोल निभाया था, लेकिन वह काफी छोटा था। 

पिता के बाद विंदु थे पहली पसंद : जब तक दारा सिंह थे तब तक हनुमान के रोल के लिए वही पहली पसंद रहे। उनके बाद विंदु ने उनकी जगह ली। 1996 में टीवी शो जय वीर हनुमान के लिए उन्हें रोल ऑफर हुआ था। वहीं विंदु कहते हैं- मैं इस बात को लेकर हिचकिचा रहा था कि जो रोल मेरे पिता ने निभाया है उसमें मैं कैसे निभा पाऊंगा परन्तु  मैंने इसे चैलेंज की तरह लिया। अब मुझे हर साल दिल्ली में रामलीला के द्वारा हनुमान का रोल निभाने बुलाया जाता है। 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 Singh (@vindusingh) on

'राम सेतु' बनते ही ट्रेंड करने लगा 'सेना चली'

टीवी पर होगी मुसद्दीलाल की वापसी, ऑफिस के चक्कर लगाते आएंगे नजर

'शक्तिमान' बंद करने के लिए रची गई थी साजिश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -