'आईएसआईएस' का वीडियो देख बेटी ने माँ को उतारा मौत के घाट

वेन्सीसेल (डेनमार्क). गौरतलब है की आतंकी संगठन आईएसआईएस का चर्चित चेहरा रहे 'जिहादी जॉन' (ब्रिटिश नागरिक मोहम्मद एमवाजी) ने कई हाई प्रोफाइल बंधकों का सिर कलम कर उनकी हत्या की थी। इनमें डेविड हैन्स और एलन हैनिंग का नाम भी शामिल थे. व इसमें इन आईएस आतंकियों ने डेविड को 2013 में बंधक बनाया था। व 13 सितंबर को जिहादी जॉन ने उसकी हत्या कर दी थी. तथा इसी संगठन ने 3 अक्टूबर को ब्रिटिश ह्यूमैनिटेरियन एक्टिविस्ट एलन हैनिंग की भी हत्या कर दी थी. डेनमार्क के विस्सेल शहर में पिछले वर्ष एक 16 साल की एक लड़की लीसा बोर्च ने 'आईएसआईएस के सिर कलम' करने वाले इस प्रोपेगैंडा वीडियो को देखकर पिछले साल अक्टूबर में अपनी ही मां की चाकू से गोदकर बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी थी। लीसा ने अपनी मां पर 20 बार चाकू से वार किया था। इसमें बख्तियार मोहम्मद अब्दुल्ला नाम के उसके एक मुस्लिम दोस्त ने भी उसका साथ दिया था। 

तथा कोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला सुनाते हुए अपनी मां का मर्डर करने वाली लीसा बोर्च को 9 साल और उसके ब्वॉयफ्रेंड को 13 साल जेल की सज़ा सुनाई है. रिपोर्ट के मुताबिक लीसा अपने 29 साल के प्रेमी के साथ घंटों यूट्यूब पर ब्रिटिश बंधकों (डेविड हैन्स और एलन हैनिंग) को कत्ल किए जाने वाला वीडियो देखा करती थी। व इन लोगो ने टीना रोमर हॉल्तेगार्ड (लीसा की मां) की हत्या का प्लान बनाया. हत्या को अंजाम देकर लीसा ने पुलिस को फोन कर कहा था की मैंने अपनी मां की चीख सुनी। जब खिड़की से बाहर झांका, तो एक गोरा शख्स भागता दिखा। आप जल्दी आइए। यहां चारों ओर खून ही खून है।" पुलिस भी फौरन वहां पहुंची गई। उन्होंने लीसा को कम्प्यूटर पर यूट्यूब वीडियोज सर्फ करते पाया। पुलिस ने जब उसकी मां के बारे में पूछा, तो लीसा ने बगैर उठे सीढ़ियों की ओर इशारा कर दिया। तथा बाद में पुलिस द्वारा प्रमुख रूप से शंका के घेरे में आने के बाद आरोपी लीसा पकड़ाई गई।    

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -