नाचो, गाओ, स्वस्थ रहो

शोध यह साबित कर चुके हैं कि संगीत और नृत्य जैसी विधाओं की सहायता से सामान्य स्वास्थ्य से लेकर कैंसर, ऑटिज़्म, अल्जाइमर, डिप्रेशन आदि जैसी कई तकलीफों में राहत मिल सकती है. 

पिछले कई सालों से दुनियाभर में चिकित्सक संगीत और डांस का प्रयोग कई तरह के रोगियों के इलाज के लिए कर रहे हैं. यह पाया गया है कि नृत्य के दौरान होने वाले मूवमेंट्स दिमाग और शरीर के बीच सही तालमेल बनाने का काम करते हैं. इससे खासतौर पर उन मरीजों को भी फायदा मिलता है जिनके हाथ-पैरों की शक्ति किसी बीमारी की वजह से कम हो गई हो या फिर वे सही तरीके से अपने दैनिक कार्यों तक के लिए शरीर को साध नहीं पाते. 

ऐसे रोगियों को विशेषकर हाथ और पैरों के मूवमेंट्स के छोटे-छोटे सेशंस में प्रैक्टिस करवाई जाती है. न्यूरोलॉजिकल विशेषज्ञ मानते हैं कि संगीत के जरिए कई मामलों में दिमाग को सही दिशा में परिवर्तित होने के लिए भी प्रेरित किया जा सकता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -