दलित युवक की पुलिस हिरासत में मौत, परिजनों ने किया थाने पर पथराव

चकेरी थाने की अहिरवां पुलिस चौकी में पुलिस हिरासत में बन्द दलित युवक की मौत हो गई. घटना के बाद चौकी इंचार्ज लाश छोड़ सिपाहियों के साथ भाग निकले. मौत की सूचना पर परिजन और इलाके के लोगो ने मिल कर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम कर थाने पर पथराव किया. 

जानकारी के अनुसार, रामपुरम निवासी टीवी कलाकार ऋचा दीक्षित के यहां चोरी और कैश मैनेजमेंट कम्पनी के दो एजेंटों से 22 लाख रुपए लूटे गए थे. दो बड़ी घटनाओं से पुलिस दबाव में थी. कई लोग हिरासत में लिए गए और पूछताछ के बाद छोड़ भी दिए गए थे. इसी मामले में मंगलवार को शिवकटरा निवासी कमल वाल्मिकी (26) उसके छोटे भाई निर्मल, राजू पासवान को पूछताछ के लिए पुलिस ने उठाया था.

तीनों को अहिरवां चौकी में रखा गया. सुबह लॉकअप में कमल वाल्मीकि का शव लटकता देख चौकी इंचार्ज योगेंद्र सोलंकी सभी 12 सिपाहियों के साथ भाग निकले. चकेरी थाने को भी सूचना नहीं दी.

कमल के पिता किशन लाल ने बताया कि गुरुवार दोपहर 1:45 बजे छोटे बेटे निर्मल ने घर पर फोन करके जानकारी दी कि उसे पुलिस ने छोड़ दिया है. सवा दो बजे पुलिस कमल के घर पहुंची और उसकी मौत की सूचना दी. कमल की मौत की खबर से इलाके में कोहराम मच गया. इलाके के लोगों ने चकेरी थाने का घेराव कर वहां पथराव कर दिया. एसएसपी समेत अन्य अधिकारियों ने उन्हें समझाया बुझाया. शाम को राजू और कमल की तरफ के लोग एकजुट हो गए और एक बार फिर थाने पर पथराव कर दिया. पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागकर भीड़ को तितर-बितर किया.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -