आज बंद होने से बच गया भारत, दलितों ने फैसला वापस लिया

Aug 09 2018 10:13 AM
आज बंद होने से बच गया भारत, दलितों ने फैसला वापस लिया

नई दिल्ली। देश के दलित संगठनो ने जाति/अनुसूचित जनजाति विधेयक (SC/ST एक्ट) में संसोधन को लेकर आज किये जाने वाले भारत बंद के फैसले को वापस ले लिया है। दलित संगठनो ने ये फैसला लोक सभा द्वारा एससी एसटी विधेयक में संसोधन को मंजूर करने के बाद लिया है। इस संसोधन के बाद दलित विधेयक कानून वापस पहले जैसा ही हो गया है। 

जानिए उन 4 हस्तियों के बारे में जिन्हे राज्यसभा के लिए राष्ट्रपति ने किया मनोनीत

दलितों के प्रमुख समूह अखिल भारतीय अम्बेडकर महासाभा (एआईएएम) ने कल रात एक लिखित बयान जारी किया था जिसमे कहा गया था कि  "एससी \ एसटी अधिनियम की बहाली के संबंध में हमारी बड़ी मांग पूरी हो चुकी है। इसलिए हम 9 अगस्त को निर्धारित किये गए भारत बंद के फैसले को वापस ले रहे है". गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने बुधवार को जनता से अपील की थी कि वे भारत बंद में हिस्सा न लें। उन्होंने कहा था कि सरकार दलितों के हक़ के लिए हर उचित काम करने को तैयार है लेकिन आप लोगों से निवेदन है कि कृपया देश में  शांति और भाईचारा बनाए रखे।

पंजाब के दलित कर रहे है रावण पूजा खुद को गैर हिन्दू मानते है

 

हलांकी दलित समूहों ने कहा है कि अभी भी उनकी कुछ मांगों को पूरा नहीं किया गया है जैसे दलित नेताओं को जेल से रिहा करना। उनका कहना है कि हम सरकार को अभी समय दे रहे है लेकिन यदि हमारी बाकि मांगों को पूरा नहीं किया गया तो हम आगे भी आंदोलन कर सकते है। 

ख़बरें और भी 

एससी/एसटी में होगा बड़ा बदलाव, कैबिनेट ने सुनाया फैसला

कटाक्ष: दलितों के चूल्हों पर रोटी सेंकने को तैयार राजनेता

दलित दूल्हे की बारात में एसपी लेवल की सुरक्षा