मराठी मूवीज में था दादा कोंडके का बोलबाला, कांग्रेस की नाक में कर दिया था दम

मराठी मूवीज का एक ऐसा एक्टर जिसने सेंसर बोर्ड को अपनी मूवीज के टाइटिल को लेकर रुला कर रख दिया था। दोहरे अर्थों वाले इन टाइटल को सेंसर बोर्ड तमाम प्रयास  करके भी बैन नहीं कर पाया। हम बात कर रहे हैं एक्टर दादा कोंडके की। मराठी मूवीज के प्रख्यात अभिनेता और निर्माता दादा कोंडके का जन्म 8 अगस्त 1932 के दिन हुआ था। उन्हें आम आदमी के हीरो के रूप में भी पहचाना जाता है। कोंडके की 9 मूवी 25 सप्ताह तक सिनेमाघरों में चलाई गई। यह गिनीज बुक में एक रिकॉर्ड के रूप में दर्ज है। 14 मार्च 1998 को मुंबई के दादर में दादा कोंडके का देहांत हो गया था। 

दादा कोंडके का असली नाम कृष्णा कोंडके रहा। उनका बचपन छोटी मोटी गुंडागर्दी के साथ ही बीता। दादा ने एक बार बोला था कि वो ईंट, पत्थर, बोतल का इस्तेामाल अपने झगड़ों में किया करते थे। दादाकोंडके ने राजनीति में भी अपनी पूरी दखलंदाजी रखी। वो शिवसेना से जुड़े। शिवसेना की रैलियों में कोंडके भीड़ जुटाने का काम करते थे। इसके साथ ही अपने प्रतिद्वांदियों पर जमकर हमला भी बोल देते है।

कृष्णा कोंडके अपने मराठी नाटक 'विच्छा माझी पूरी करा' के लिए भी फेमस है। इस नाटक को कांग्रेस विरोधी माना जाता है। क्योंकि इस नाटक में इंदिरा गांधी का मजाक उड़ाया जा चुका था। दादा कोंडके ने इस नाटक के 1100 से अधिक स्टेज शो किए थे। 1975 में आई दादा कोंडके की मूवी 'पांडू हवलदार' बहुत चर्चित रही थी। जिसमे उन्होंने लीड रोल अदा किया था। इस मूवी के उपरांत से ही हवलदारों को पांडु बोला जाने लगा था। उनकी अन्य चर्चित मूवीज में 'सोंगाड्या', 'आली अंगावर' प्रमुख हैं।

मराठी मूवी में गायक महेंद्र कपूर और दादा कोंडके की जोड़ी खूब जमी। कोंडके के लिए महेंद्र कपूर के गाए हुए गीत मराठी सिनेमा में बहुत लोकप्रिय हुए। दादा कोंडके हास्य कलाकार थे और अपने अभिनय में डबल मीनिंग कॉमेडी का उपयोग किया करते थे। यही कारण था कि दादा कोंडके लोगों के मध्य मशहूर होते चले गए। दाद कोंडके की मराठी मूवीज के टाइटल भी इतने अश्लील होते थे कि सेंसर बोर्ड उन्हें पास करने में शरमा जाते थे। कोंडके की मूवीज के देखकर उन्हें पास करना सेंसर बोर्ड के लिए सबसे बड़ी चुनौती हुआ करता था। उनकी पुण्यतिथि के औचित्य को साधते हुए मुंबई के भारत माता सिनेमागृह में फिर से कोंडके की याद ताजा करने के लिए उनकी मूवीज को दिखाने की परम्परा को शुरु कर दिया। दादा कोंडके की सात मराठी फिल्मों ने गोल्डन जुबली मनाई, तभी उनका नाम गिनीज बिक्स ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया।

रिलीज़ हुआ 'बच्चन पांडे' का नया गाना, गानें में दिखी अक्षय और जैकलीन की ब्यूटीफुल केमेस्ट्री

एक बार फिर वर्कआउट की फोटो शेयर कर जाह्नवी ने दिया फिटनेस गोल

आखिर क्यों कश्मीर फाइल्स नहीं देखने गए KRK, बताई चौका देने वाली वजह

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -