आग पर पानी डालते ही फट गया सिलिंडर, हुई कई मौतें

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले के कलान थाना क्षेत्र के गांव विक्रमपुर में मंडप समारोह में खाना बनाते सिलिंडर में आग लग गई। इससे गांव की पूर्व प्रधान मुन्नी देवी (65), गंगा देवी (70) नीलम (35) एवं वंदना (22) की झुलसकर मौत हो गई। दुर्घटना में तीन और लोग भी झुलसे हैं। इनका उपचार बरेली व बदायूं के चिकित्सालयों में चल रहा है। गांव में बरात की तैयारी के चलते सिलिंडर फटने की घटना ने महिलाओं की घबराहट एवं जानकारी न होने के कारण बड़ा रूप ले लिया। 

वही आग लगते ही महिलाओं ने सिलिंडर पर बालू की जगह पानी डाला तो आग और भड़क गई जिससे एक के पश्चात् एक करके चार महिलाओं की जान चली गई। रविवार को प्रियंका यादव की बरात आनी थी। प्रियंका की शादी का सारा जिम्मा उसके चाचा प्रधान ओमवीर यादव एवं ताऊ रामऔतार यादव ने संभाल रखा था। प्रियंका के पिता रामनिवास की बहुत पहले जान जा चुकी है। उनकी मौत के पश्चात् प्रियंका और उसके भाई आलोक की पूरी जिम्मेदारी ओमवीर व रामऔतार ही संभाल रहे थे। 

वही चाचा एवं ताऊ ने ही उसकी शादी जैथरा गांव में तय की थी। अच्छा रिश्ता मिलने से पूरे परिवार में खुशी का माहौल था। 3 जून को शादी होनी तय थी। उससे पूर्व ही ओमवीर एवं रामऔतार ने सारी तैयारियों को पूरा कर लिया था। सभी रिश्तेदारों को कार्ड दिए गए थे, लिहाजा प्रियंका की शादी में ज्यादातर मेहमान आ चुके थे। घर के आंगन में मंडप सजाया गया था। वहीं पर मेहमानों के लिए खाना बन रहा था। मंडप के लिए बेसन बनाने के काम में महिलाएं जुटी थीं। कहा जा रहा हैं कि जिस स्थान पर दुर्घटना हुई वहां 3 सिलिंडर इस्तेमाल में लिए जा रहे थे। एक सिलिंडर से चूल्हा, दूसरे से भट्टी जल रही थी। बेसन बनाने के साथ ही महिलाएं मंगल गीत भी गा रहीं थीं। ढोलक बजाई जा रही थी। तीसरे सिलिंडर से चूल्हा जैसे ही जलाया गया, सिलिंडर ने आग पकड़ ली। सिलिंडर से लपटें उठने पर महिलाओं ने मिट्टी या बालू का इस्तेमाल करने की जगह उस पर वहीं पर भरी रखी बाल्टी का पानी उड़ेल दिया जिससे आग भड़क गईं। तत्पश्चात, अन्य सिलिंडरों ने भी आग पकड़ ली। कुछ देर में पूरा घर आग की चपेट में आ गया। वहीं पर बैठीं मुन्नी देवी, नीलम और गंगा देवी की आग की चपेट में आने से मौके पर जान चली गईं। जबकि, मनोरमा, आलोक और वंदना भी गंभीर तौर पर झुलस गए। वही इस हादसे से हर ओर हड़कंप मच गया।

महिला ने लगाई मदद की गुहार तो खुद स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पताल पहुंचकर दिया खून

केदारनाथ में हुआ दर्दनाक हादसा, एक बच्चे की गई जान

देश में फिर होने वाला है आंदोलन! राकेश टिकैट ने खुद दिया ये बड़ा बयान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -