ओडिशा तट से टकराया चक्रवाती तूफान गुलाब, समुद्र में गए 6 मछुआरे लापता

चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ आज ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटों पर दस्तक दे सकता है। हाल ही में भारत मौसम विज्ञान विभाग ने इस बारे में जानकारी दी है। मौसम विभाग का कहना है कि ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके चक्रवात ‘गुलाब’ को देखते हुए पूरी तरह से तैयार हैं। इसके अलावा मौसम विभाग ने यह भी जानकारी दी है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरा दबाव शनिवार को चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ में बदल गया, जिसके चलते उत्तरी आंध्र प्रदेश और उससे सटे दक्षिण ओडिशा के तटों के लिए ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया गया है।

वहीं दक्षिणी ओडिशा के कुछ हिस्सों में चेतावनी जारी की गई है, जहां चक्रवाती तूफान गुलाब से भारी तबाही होने की संभावना है। आप सभी को बता दें कि भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) भुवनेश्वर का कहना है कि, 'चक्रवात गुलाब के तट से टकराने की प्रक्रिया रविवार शाम से शुरू हो गई है और यह करीब 3 घंटे तक जारी रह सकती है।' वहीं उनके अलावा एक अन्य अधिकारी ने कहा कि, 'तट से टकराने के दौरान चक्रवात की हवा की गति लगभग 90 किमी प्रति घंटे है। इस प्रक्रिया ने आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम और ओडिशा के गोपालपुर के बीच के भूभाग को प्रभावित किया है।'

हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिले श्रीकाकुलम से बंगाल की खाड़ी में गए 6 मुछआरों के बीते रविवार शाम को लापता होने की जानकारी मिली है। इसी के साथ चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ तट की ओर बढ़ रहा है और इसके मध्यरात्रि में तट से टकराने की आशंका है। बताया जा रहा है गुलाब तूफान की वजह से आंध्र प्रदेश के तीन तटीय जिलों विशाखापत्तनम, विजयनगरम और श्रीकाकुलम में मध्यम बारिश हो रही है। यह भी खबर है कि बीते कल यानी रविवार शाम लगभग 6 बजे लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू हुई और ये अगले 2-3 घंटों तक उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और उससे सटे दक्षिण तटीय ओडिशा में जारी रही।

मतदाता को हर जानकारी देगा 'वोटर हेल्पलाइन ऐप'

कर्म ही पूजा है: उफनते नाले को पार कर वैक्सीन लगाने पहुंचे स्वास्थ्यकर्मी

एक्सीडेंट ने छीन लिया था सुधा चंद्रन का पैर, फिर भी नहीं बंद किया डांस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -