कहीं भिखारी तो कहीं किन्नर भी बदला रहे नोट

नई दिल्ली : पांच सौ और एक हजार रूपये के मौजूदा नोटों को बदलाने के लिये या तो बैंकों में लोगों की कतार लगी हुई नजर आ सकती है या फिर एटीएम पर लोगों की भीड़ है। इधर नोट बदलाने के लिये न केवल सामान्य लोग कतार में देखे जा सकते है वहीं किन्नर और भिखारियों को भी बैंकों मेें लगी लोगों की कतार में देखने का मामला सामने आया है।

यूपी के सहारनपुर में जहां एसबीआई की शाखा में दो महिला भिखारी नोट बदलाने के लिये पहुंची वहीं मध्यप्रदेश के इंदौर में स्थित नंदलालपुरा की बैंक शाखा में किन्नर नोट बदलाने के लिये पहुंचे। जानकारी मिली है कि यूपी में महिला भिखारियों को इसलिये नोट बदलकर नहीं दिये जा सके क्योंकि उनके पास इसके लिये निर्धारित कागज नहीं थे। ऐसे में इनका कहना था कि उनके अब ये नोट किसी काम के नहीं रहेंगे।

अब यह लोगों के लिये आश्चर्य की बात थी कि आखिर भिखारियों के पास एक हजार और पांच सौ रूपये के नोटों की गड्डी कैसे आई। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने हाल ही में पांच सौ और एक हजार रूपये के नोटों को बंद कर नये नोट जारी कर दिये है।

मुद्रा कोष ने किया मोदी के नोट बन्द करने के प्रयास का समर्थन

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -