24 नवंबर ने बढ़ाई दिलों की धड़कन

Nov 19 2016 09:56 PM
24 नवंबर ने बढ़ाई दिलों की धड़कन

नई दिल्ली :  24 नवंबर ने लोगों के दिलों की धड़कन बढ़ा दी है। जैसे-जैसे 24 नवंबर का दिन नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे लोग लोगों की चिंता इस बात की बढ़ने लगी है कि वे अपने पुराने नोटों को बदला सकेंगे अथवा नहीं। बावजूद इसके लोग बैंकों की कतार में इस उम्मीद से लगे हुये है कि उन्हें पुराने नोटों को बदलाने में सफलता मिल जायेगी।

नोटबंदी के बाद मोदी सरकार ने यह ऐलान किया है कि चलन से बंद हुये पांच सौ और एक हजार के नोटों को 24 नवंबर तक न केवल बैंकों या पोस्ट आॅफिस से बदलाया जा सकेगा वहीं आवश्यक सेवाओं में भी इन नोटों को चलाया जा सकेगा। चुंकि अब 24 नवंबर बहुत करीब आ गया है, इसलिये लोगों को चिंता सताने लग गई है। इनमें वे लोग भी शामिल है, जिनके पास पांच-सात हजार रूपये है और वे बैंकों की कतार में लगने के बाद भी नोट बदलाने में सफल नहीं हो सके है। ऐसी स्थिति में सोमवार से बैंकों में भीड़ बढ़ने की पूरी संभावना है।

याद रहे, इसलिये रख लिये

कुछ लोग ऐसे भी है, जिन्होंने पांच सौ और एक हजार रूपये के एकाध नोट बचाकर इसलिये रख लिये ताकि इन पुराने नोटों की याद बनी रहे। ऐसे लोगों ने बताया कि इन नोटों को देखकर यह याद रहेगी कि कभी ये नोट भी घर गृहस्थी चलाने में बहुत काम आया करते थे।

पुराने नोट 24 नवंबर तक होंगे स्वीकार, बैंक से निकासी की सीमा बढ़ाई